RCB vs LSG

RCB vs LSG: केएल राहुल की लखनऊ सुपर जायंट्स का सामना इंडियन प्रीमियर लीग 2022 के 31वें मैच में मंगलवार, 19 अप्रैल 2022 को शाम 7:30 बजे डॉ. डीवाई पाटिल स्पोर्ट्स एकेडमी, नवी मुंबई में फाफ डु प्लेसिस की रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर से होगा। इन दोनों टीमों के बीच इस सीजन का एक ब्लॉकबस्टर मैच होने जा रहा है जिन्होंने अब तक बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है। लखनऊ और बैंगलोर दोनों ने चार गेम जीते हैं और दो-दो हारे हैं। दोनों टीमों की जीत और हार का पैटर्न एक जैसा रहा है। तो आइए जानते हैं कि इस ब्लॉकबस्टर मुकाबले में पिच और मौसम का मिजाज कैसा होगा….

RCB vs LSG मुकाबले में ऐसा होगा मौसम का मिजाज

DY Patil Sports Academy 2022 weather

रॉयल्स चैलेंजर्स बैंगलोर और लखनऊ सुपर जायंट्स (RCB vs LSG) के बीच 19 अप्रैल को होने वाली जंग बेहद रोमांचक होने वाली है। शाम के समय होने वाले इस मैच (RCB vs LSG) में मौसम की भी महत्वपूर्ण भूमिका होगी। जिसके बारे में जानने के लिए आप भी काफी ज्यादा एक्साइटेड होंगे। तो आपको बता दें कि इस मैच में मौसम बिल्कुल साफ रहेगा। गर्मी से खिलाड़ियों का हाल काफी बुरा होने वाला है। क्योंकि महाराष्ट्र में गर्मी अब विकराल रूप लेने वाली है।

मौसम की बात करें तो यहां का तापमान गुरुवार को 31 से 27  डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा। वहीं हवा 26 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी, जबकि ह्यूमिडिटी 69 प्रतिशत होगी। यानी कि RCB vs LSG मैच के दौरान उमस काफी ज्यादा होगी और खिलाड़ियों को इस भीषण गर्मी का सामना करते हुए अपनी टीम के लिए 100 प्रतिशत देना होगा। इसके अलावा बारिश की कोई गुंजाइश नहीं है।

RCB vs LSG मैच में ऐसी होगी पिच

DY Patil Sports Academy
DY Patil Sports Academy

मुंबई के डी वाई पाटिल स्टेडियम (DY Patil Sports Academy) में रॉयल्स चैलेंजर्स बैंगलोर और लखनऊ सुपर जायंट्स (RCB vs LSG) के बीच 19 अप्रैल को जोरदार भिड़ंत देखने को मिलेगी। यहां की पिच पर अब तक काफी उछाल देखा गया है। ऐसी स्थिति में दोनों टीमों के तेज गेंदबाज इस पिच पर अपनी रफ्तार के साथ-साथ बाउंस का प्रयोग भी समय-समय पर करते रहना चाहेंगे।

वहीं इस पिच पर बल्लेबाजों की बात करें, तो इस पिच पर बल्लेबाजों के लिए भी मदद रहेगी। इस मुकाबले में पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम 160 से 170 रन तक बना सकती है। इसी मैदान में चेन्नई और बैंगलोर के बीच पिछला मुकाबला हुआ था, जहां एक हाई स्कोरिंग मुकाबला देखने को मिला था। वहीं गेंद पुरानी होने के बाद बल्लेबाजों को बड़े शॉट खेलने में आसानी होती है और बढ़िया उछाल के साथ गेंद बल्लेबाजों के पास पहुंचती है। जिसका फायदा बल्लेबाज को मिलता है।