RCB

कोलकाता नाइट राइडर्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच खेले गए एलिमिनेटर मुकाबले में बेहद खराब अंपायरिंग देखने को मिली। इस मैच के ऑन फील्ड अंपायर ने RCB के खिलाफ कुछ गलत फैसले लिए। जिसपर मैच के बीच पहले तो विराट कोहली ने रिव्यू लेकर फैसला बदलवा लिया और फिर वह अंपायर से भिड़ गए। इसके बाद मामला गर्माया और अंपायर वीरेंद्र शर्मा उनके सामने सफाई पेश करते नजर आए।

अंपायर से भिड़े विराट कोहली

एलिमिनेटर मुकाबले में हर गेंद अहम होती है और हर विकेट जीत हार का फैसला कर सकता है। इतने बड़े मुकाबले में अंपायर द्वारा कुछ खराब फैसले देखने को मिले। असल में कोलकाता की पारी के दौरान 7वें ओवर में युजवेंद्र चहल ने अपनी आखिरी गेंद डाली, तो गेंद सीधे राहुल त्रिपाठी के पैड पर लगी और चहल के अपील करने पर अंपायर ने त्रिपाठी को नॉटआउट करार दिया। मगर कोहली ने कीपर से पूछने के बाद रिव्यू लेने का फैसला किया।

रिव्यू लेने के बाद कोहली का फैसला सही साबित हुआ और त्रिपाठी को LBW करार दिया गया। राहुल को पवेलियन भेजने के बाद कोहली अंपायर वीरेंद्र शर्मा के पास पहुंच गए और विवाद बढ़ गया। कोहली अंपायर के पास जाकर उनके फैसले को लेकर बहस करने लगे।

बल्लेबाजी के दौरान भी हुआ था ऐसा

RCB

RCB की बल्लेबाजी पारी के दौरान भी अंपायर ने कुछ ऐसे फैसले लिए थे, जिन्हें रिव्यू लेकर बल्लेबाजों ने बदला था। 16वें ओवर की तीसरी गेंद पर वरुण चक्रवर्ती की गेंद पर शाहबाज अहमद को अंपायर ने LBW दिया था, लेकिन बल्लेबाज ने रिव्यू लिया और थर्ड अंपायर ने उन्हें नॉटआउट करार दिया।

इसके बाद 20वें ओवर की तीसरी गेंद पर भी खराब अंपायरिंग का उदाहरण देखने को मिला, जब हर्षल पटेल को LBW दिया गया। हर्षल ने रिव्यू लिया और थर्ड अंपायर ने मैदानी अंपायर से फैसला बदलने के लिए कहा। इस बड़े मैच में इस तरह की अंपायरिंग यकीनन निंदनीय है।