Untitled design 12

इंडियन प्रीमियर लीग-2020 के सीजन से विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम हुई बाहर. जिसके बाद पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने कहा कि विराट कोहली उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर सके. और उन्होंने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए आरसीबी के बाहर होने की वजह भी बताई.

गावस्कर ने विराट कोहली के लिए कही ये बात?

Gavaskar Slammed For 'Distatesful' On-Air Comment During IPL 2020

 

एक समय भारतीय टीम से खेलते हुए अपनी बल्लेबाजी का जादू दिखे चुके पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने अपने यूट्यूब चैनेल पर विराट कोहली और इंडियन प्रीमियर लीग-2020 के सीजन से बाहर होने वाले की वजह भी बताई. उन्होंने कहा कि

“विराट कोहली ने अपने लिए उच्च मानक तय किया है. इसे देखते हुए शायद वह कहेगा कि उनका प्रदर्शन उस तरह का नहीं रहा. यही कारण था कि रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और आगे नहीं बढ़ पाई. एबी डिविलियर्स के साथ जब वह बड़े स्कोर बनाते हैं, तो टीम को कामयाबी मिलती हैं.”

विराट ने आईपीएल के इस सीजन में 15 मैचों में 121.35 के स्ट्राइक रेट से 450 रन बनाए. उनकी टीम मिडिल ओवर्स काफी बार संघर्ष करती हुई देखी गई. जिसका कारण उनकी टीम में आखिरी के ओवरों में बल्लेबाजी ना होना हो सकता है.

आरसीबी की गेंदबाजी कमजोर कड़ी- गावस्कर

PN 7147

 

दिग्गज खिलाड़ी और भारतीय टीम में लंबे समय तक खेलने वाले सुनील गावस्कर ने आगे बात को जारी रखते हुए  कहा कि

“आरसीबी की गेंदबाजी उनकी कमजोर कड़ी रही हैं. इस टीम में टी20 के अच्छे खिलाड़ी एरोन फिंच, बेहतरीन शुरुआत करने वाले युवा देवदत्त पडिक्कल और फिर विराट कोहली और एबी डिविलियर्स हैं. इसका मतलब है कि आप के पास अच्छी टीम है. आरसीबी को एक ऐसा खिलाड़ी खोजना होगा, जो फिनिशर की भूमिका निभा-सके. उन्होंने सुझाव दिया कि शिवम दुबे उस भूमिका में अच्छे साबित हो सकते हैं.”

शिवम दुबे को उचित भूमिका देनी की जरुरत

IPL 2020 | Shivam Dube Not The Right Choice For RCB To Bowl At The Death: Irfan Pathan - Tech Kashif

उन्होंने आगे कहा कि

“मुझे लगता है कि जहां रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम को थोड़ी सोच-विचार करने की जरुरत है. शिवम दुबे को उचित भूमिका देने की जरुरत है. दुबे नीचे चले गए हैं और वाशिंगटन सुंदर ऊपर और नीचे चले गए हैं. अगर उन्हें एक भूमिका दी जाए.” 

“उन्हें मैदान पर जाकर गेंद पर प्रहार करने को कहा जाए, तो इससे उन्हें मदद मिल सकती है. वह अभी उलझन में है. टीम को अगर नंबर-5 पर एक ठोस खिलाड़ी मिल जाए, तो इससे एबी डिविलियर्स और विराट कोहली पर से दबाव कम हो जाएगा.”