Virat Kohli addressing media IPL

आईपीएल 2020 का रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच 52वां मुकाबला खेला गया। इस मैच में आरसीबी की टीम ने ना केवल टॉस हारा, बल्कि मैच भी हार गए। इस मैच में आरसीबी पहले बल्लेबाजी करते हुए सिर्फ 120 रन ही बना सकी और जवाब में हैदराबाद ने लक्ष्य को आसानी से हासिल कर लिया और 5 विकेट से आरसीबी को मात दी।

विराट कोहली इस हार पर बोले

ARJUNk917

सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सिर्फ 120 रन बनाए। ये लक्ष्य शारजाह के मैदान पर ये लक्ष्य डेविड वॉर्नर की टीम के लिए बेहद आसान रहा और 15वें ओवर में ही जीत हासिल कर ली। इस शर्मनाक हार को लेकर कप्तान विराट कोहली ने कहा,

“शायद हमने जो स्कोर बनाया, वह बचाने के लिए पर्याप्त नहीं था। मुझे लगता है कि अगर हम 140 रन बनाते, तो वह एक अच्छा स्कोर हो सकता था। दूसरी पारी में पिच का मिजाज काफी बदल गया था और विकेट बल्लेबाजी के लिए अनुकूल हो गई थी। पिच में काफी ओस भी आई, जिसका हमने बिल्कुल अंदाजा नहीं लगाया था, उन्होंने आखिरकार टॉस में ही आधा काम अपना पूरा कर लिया था।”

ओस के चलते गेंदबाजों को करना पड़ा मुश्किलों का सामना

शारजाह के मैदान पर ओस को कप्तान विराट कोहली ने हार का बड़ा कारण माना। विराट कोहली ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा,

“अंत में गेंदबाजों के लिए गेंद को पकड़ना बहुत मुश्किल था। बीच में हमें लगा कि मौसम सुहावना हो गया है और ओस नहीं थी, लेकिन पिछले कुछ खेल दुबई में और यहां भी ओस पड़ गई है। पैटर्न बदलता रहता है लेकिन आपको बोर्ड पर रन बनाने की जरूरत होती है। हम पूरी पारी के दौरान बल्ले से अच्छे नहीं थे और इसलिए उनके गेंदबाजों को हमें श्रेय देना होगा। उन्होंने पिच का अच्छी तरह से उपयोग किया और गति में बदलाव किया।”

आखिरी गेम जीता है टॉप-2 में बने रहने के लिए जरूरी

विराट कोहली

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच खेले गए मुकाबले में मिली करारी हार के साथ ही टीम के लिए प्ले ऑफ में पहुंचना मुश्किल हो गया है। प्ले ऑफ की रेस में अपनी स्थिति को लेकर कप्तान विराट कोहली ने कहा,

“यह एक प्रतिस्पर्धात्मक टूर्नामेंट है और आप किसी भी खेल को हल्के में नहीं ले सकते हैं या किसी भी टीम को कमजोर नहीं समझ सकते हैं, स्थिति हमारे सामने है। हमें शीर्ष दो में बरकरार रहना है, तो हमें अपना आखिरी गेम जीतना होगा।”

यह टूर्नामेंट टीमों को वापसी करने का मौका भी देता है। टूर्नामेंट में आगे के मैच काफी दिलचस्प होने जा रहे हैं, क्योंकी कई टीम 14 अंको तक रहने वाली है। मैं हमेशा आईपीएल में बैंगलोर का लड़का रहा हूं, कभी दिल्ली की तरफ नहीं गया।”