ravindra jadeja

Ravindra Jadeja: शनिवार को मोहाली में हुए टेस्ट मुकाबले के दूसरे दिन में रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) ने श्रीलंका टीम के छक्के छुड़ा दिए। जडेजा ने श्रीलंकाई खिलाड़ियों को पहले बल्ले से धोया फिर उसके बाद उन्होंने श्रीलंका के बल्लेबाजों पर गेंद से वार किया। अपने इस धुआंधार प्रदर्शन के बाद जडेजा बीते 60 साल में पहले ऐसे हिंदुस्तानी क्रिकेटर बन गए हैं, जिन्होंने श्रीलंका के खिलाफ बड़े कमाल की स्क्रिप्ट लिखी है। आइए इस आर्टिकल के जरिए हम आपको बताते हैं कि क्या पूरा माजरा….

Ravindra Jadeja ने किया यह कारनामा

Ravindra Jadeja Score 150 and Trend On Twitter

पहले टेस्ट मुकाबले के दूसरे दिन की पारी में भारतीय क्रिकेट टीम के हरफनमौला रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) ने अपने बल्ले से श्रीलंका पर कहर बरसाया। उसके बाद जडेजा ने श्रीलंकाई बल्लेबाजों की गेंद से भी धुनाई की।  ऐसा करते हुए जडेजा ने की कीर्तिमान भी बनाए। मोहाली में हुए टेस्ट मुकाबले की पहली में रवींद्र (Ravindra Jadeja) ने भारत के लिए नाबाद रहकर 175 रन की पारी खेली।

फिर बाद में उन्होंने गेंद से 41 रन देकर श्रीलंकाई टीम की 5 विकेट चटकाई।  ये टेस्ट क्रिकेट में जडेजा का दूसरा शतक था। वही दूसरी ओर, उन्होंने गेंद से 10वीं बार उन्होंने 5 शिकार किए थे। बाएं हाथ के गेंदबाज ने घरेलू जमीन पर 8वीं बार 5 विकेट लेने का कमाल किया था। इस मामले में उन्होंने बिशन सिंह बेदी के भारतीय रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है।

60 साल बाद ऐसा करने वाले पहले भारतीय बने Ravindra Jadeja

Ravindra jadeja

भारतीय क्रिकेट के इतिहास में 60 साल के बाद ऐसा पहली बार हुआ जब किसी खिलाड़ी ने टेस्ट क्रिकेट की एक ही पारी में 150 से ज्यादा रन बनाए और 5 या उससे ज्यादा विकेट भी लिए। अगर ओवरऑल देखा जाए तो जडेजा ऐसा करने वाले तीसरे भारतीय खिलाड़ी हैं। क्रिकेट जगत में ऐसा पहली बार साल 1952 में में वीनू मांकड़ ने लॉर्ड्स में खेले टेस्ट में किया था।

उसके बाद साल 1962 में पॉली उमरीगर उस कमाल को दोहराने वाले दूसरे खिलाड़ी बने। और, अब 60 साल बाद जडेजा इस लिस्ट में तीसरे खिलाड़ी के तौर पर जुड़े हैं। जडेजा ने मोहाली में बल्ले से कपिल देव का रिकॉर्ड तोड़ा था. वो  टेस्ट में अब नंबर 7 पर सबसे बड़ा स्कोर बनाने वाले भारतीय खिलाड़ी हैं।

One reply on “IND vs SL: रवींद्र जडेजा ने रचा नया इतिहास, 60 साल में ऐसा करने वाले बने पहले भारतीय”

Comments are closed.