Ravichandran Ashwin

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर बॉर्डर-गावस्कर सीरीज के तीसरे सिडनी टेस्ट मैच में टीम इंडिया के युवा तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज व जसप्रीत बुमराह को नस्लीय टिप्पणी का सामना करना पड़ा था। ऑस्ट्रेलियन फैन के इस गंदे रवैये पर काफी विवाद भी हुआ था। टेस्ट के बाद एक भारतीय फैन ने भी खुद के साथ हुए बुरे बर्ताव को लेकर अपनी बात रखी थी, जिसको लेकर रविचंद्रन अश्विन अब उनके सपोर्ट में आ गए हैं।

रविचंद्रन अश्विन ने की तारीफ

सिडनी टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों के एक ग्रुप ने भारत के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह व मोहम्मद सिराज पर नस्लीय टिप्पणी की थी। इसकपर काफी विवाद हुआ था और मैच को 15 मिनट तक रोका भी गया था।  भारतीय फैन कृष्णा कुमार ने ऑस्ट्रेलिया के एक सिक्योरिटी ऑफिसर पर सिडनी टेस्ट के दौरान खुद के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग करने का आरोप लगाया था।

इसको लेकर कृष्णा ने ऑस्टेलियाई मीडिया के साथ बात भी की थी और खुलकर इसका विरोध किया था। कृष्णा कुमार के निडर व्यवहार और उनकी हिम्मत की रविचंद्रन अश्विन ने जमकर तारीफ की है। अश्विन ने ट्विटर पर लिखा,

‘मैं कृष्णा कुमार तुम तक कैसे पहुंच सकता हूं? बहुत बढ़िया।’

सिडनी टेस्ट में की गई थी नस्लीय टिप्पणी

बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी का तीसरा मैच सिडनी क्रिकेट स्टेडियम में खेला गया था। मैच के तीसरे दिन जब मोहम्मद सिराज बाउंड्री के पास फील्डिंग कर रहे थे, तब उन्हें कुछ ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों द्वारा नस्लीय टिप्पणी की गई थी। सिर्फ सिराज ही नहीं बुमराह पर भी भद्दी टिप्पणी की गई थी। तीसरे दिन मैच रेफरी से टीम इंडिया ने आधिकारिक तौर पर शिकायत दर्ज की थी।

मैच के चौथे दिन एक बार फिर ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों के ग्रुप ने भारतीय खिलाड़ियों पर नस्लीय टिप्पणी की। इसके बाद टीम इंडिया ने मैदानी अंपायर से इसकी शिकायत की। अंपायर ने सिक्योरिटी से मामला बताया और उस ग्रुप को स्टेडियम से बाहर कर दिया गया था। इन सबके चलते लगभग 15 मिनट तक मैच को रोका गया था। इस वाक्ये के लिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने भारतीय क्रिकेट टीम  के खिलाड़ियों से माफी मांगी थी और साथ ही सख्त से सक्त एक्शन लेने का दिलासा दिया था।

मैच को बीच में छोड़ देने का दिया था प्रस्ताव

टीम इंडिया

दुनियाभर में भारतीय खिलाड़ियों को काफी पसंद किया जाता है। मगर सिडनी टेस्ट के दौरान ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों का वह चेहरा सामने आया, जिसकी शायद किसी ने कल्पना भी नहीं की थी। कृष्ण कुमार ने सिडनी टेस्ट के बाद बताया था कि

ऑस्ट्रेलियाई दर्शक ना सिर्फ मोहम्मद सिराज, बल्कि कप्तान अजिंक्य रहाणे के खिलाफ भी नस्ली टिप्पणियां कर रहे थे। रहाणे उस समय बल्लेबाजी कर रहे थे, ऑस्ट्रेलियाई दर्शक लगातार अभद्र भाषा में चैंट किए जा रहे थे रहाणे और टीम इंडिया के लिए। यह पहली बार है जब मैंने ऐसा देखा है। मैंने यह आजतक कभी फेस नहीं किया है, वह काफी भयावह था। टीम इंडिया के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद सिराज को ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों ने ब्राउन डॉग और मंकी कहकर पुकारा था।

जब भारतीय खिलाड़ियों ने अंपायर से शिकायत की थी, तो उन्होंने कप्तान अजिंक्य रहाणे को मैच को बीच में ही छोड़ देने का प्रस्ताव दिया था। मगर कप्तान ने उस प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया और सिडनी टेस्ट को ऐतिहासिक रूप से भारत ने ड्रॉ किया।