Ravichandran Ashwin

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने टी20 विश्व कप के लिए 15 सदस्यीय टीम इंडिया का ऐलान कर दिया है। विराट कोहली पहली बार टी20 विश्व कप में टीम इंडिया की कप्तानी करेंगे। तो वहीं टीम में Ravichandran Ashwin को भी मौका मिला है। अश्विन का नाम देखकर यकीनन सभी हैरान रह गए, क्योंकि वह 2017 से सीमित ओवर टीम से बाहर चल रहे थे। हालांकि ऑफ स्पिनर के चयन पर मुख्य चयनकर्ता चेतन शर्मा ने बयान जारी किया है।

Ravichandran Ashwin को सुंदर की जगह मिली जगह

टी20 विश्व कप के लिए टीम इंडिया का ऐलान हो चुका है। टीम के सामने आने के बाद सबसे ज्यादा हैरानी सभी को Ravichandran Ashwin का नाम देखकर हुई है। असल में, ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को टी20 विश्व कप टीम में शामिल किया गया है।

चेतन शर्मा ने अश्विन को टीम में शामिल करने पर बयान जारी करते हुए कहा,“वह आईपीएल, विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। फिंगर स्पिनर्स हमारे लिए अहम हैं। वॉशिंगटन सुंदर की जगह एक ऑफ स्पिनर के रूप में उन्हें टीम में शामिल किया गया है।” 

अश्विन पिछले कुछ समय से दे रहे थे दस्तक

टीम इंडिया के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) इस वक्त इंग्लैंड दौरे पर हैं। मगर अब तक खेले गए 4 मैचों में से उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिल सका है। लेकिन इस बात में कोई संदेह नहीं है कि वह पिछले कुछ समय से लगातार सीमित ओवर टीम में वापसी के लिए दस्तक दे रहे थे।

आईपीएल 2020 में अश्विन ने दिल्ली कैपिटल्स की ओर से खेलते हुए 15 मैचों में 7.66 की इकोनॉमी रेट से 13 विकेट लिए थे। इसके अलावा इस सीजन के शुरुआत में अश्विन ने 5 मैच खेले थे, जिसमें 1 विकेट चटकाया था। वहीं टेस्ट में तो वह बेहतरीन प्रदर्शन कर ही रहे हैं, ना केवल घरेलू बल्कि विदेशों में भी उन्होंने लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है। अश्विन ने भारत के लिए 46 T20I मैच खेले हैं, जिसमें 6.97 की इकोनॉमी रेट के साथ 52 विकेट चटकाए हैं।

वॉशिंगटन सुंदर नहीं हो सकेंगे उपलब्ध

Ravichandran Ashwin

टीम इंडिया के युवा ऑफ स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर को इंग्लैंड दौरे पर खेले गए प्रैक्टिस मैच के दौरान उंगली में इंजरी हुई थी। जिसके चलते वह इंग्लैंड सीरीज से बाहर हो गए और भारत लौट गए थे। इतना ही नहीं हाल ही में खबर आई थी कि वह आईपीएल 2021 के यूएई लेग के लिए भी उपलब्ध नहीं हो सकेंगे और रूल्ड आउट हो गए हैं। अब जबकि सुंदर उपलब्ध नहीं होंगे, तो ऑफ स्पिनर गेंदबाज के तौर पर भारत के पास Ravichandran Ashwin से बेहतर विकल्प नहीं था।