ravi shastri

पूर्व भारतीय मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने खुलासा किया है कि उन्होंने दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच हाल ही में समाप्त हुई एकदिवसीय श्रृंखला की एक भी गेंद नहीं देखी . रवि शास्त्री ने विराट कोहली (Virat Kohli) के भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान के रूप में पद छोड़ने के फैसले पर खुल कर बात की. साथ ही उन्होंने यह मानने से इनकार किया कि टीम के प्रदर्शन के स्तर में गिरावट आई है.

Ravi Shastri ने साउथ अफ्रीका में मिली हार पर खुलकर की बात

Ravi Shastri

भारत के पूर्व कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) को दक्षिण अफ्रीका से  टेस्ट और एकदिवसीय श्रृंखला हारने के बाद पैनिक बटन दबाने का कोई कारण नहीं दिखता है, क्योंकि उनका मानना ​​​​है कि यह एक अस्थायी चरण है और टीम जल्द ही इससे निपट जाएगी. विराट कोहली (Virat Kohli) के सभी प्रारूपों की कप्तानी से अपना हाथ खींच लिया. भारत के स्टैंड-इन कप्तान केएल राहुल के नेतृत्व में एकदिवसीय मैचों में 0-3 से पिछड़ गया और दक्षिण अफ्रीका ने एकदिवसीय सीरीज पर कब्जा कर लिया.

भारत को इससे पहले वांडरर्स और केपटाउन में लगातार हार का सामना करना पड़ा था और टेस्ट सीरीज 1-2 से हार गई थी. उस सीरीज के अंत में कोहली ने भारतीय  टेस्ट क्रिकेट से कप्तानी छोड़ दी. रवि शास्त्री से जब विराट कोहली की कप्तानी छोड़ने पर पूछा गया तो उन्होंने बताया कप्तानी छोड़ने के बाद विराट कोहली की बॉडी लैंग्वेज बदल गई है. शास्त्री ने कहा,

‘तुम लोग चढ़कर बैठते हो प्लेयर पर, मेरे को बताओ कितनी टीमें लगातार इतना अच्छा खेली हैं। वर्ल्ड कप बहुत बड़े बड़े प्लेयर नहीं जीते हैं। ऐसे में उस पर सवाल उठाना लाज़मी नहीं है। अगर उसने वर्ल्ड कप नहीं जीता है तो वो बुरा प्लेयर नहीं बन जाएगा।’

विराट की कप्तानी छोड़ने पर Ravi Shastri ने दी ये प्रतिक्रिया

ravi shastri says virat kohli coucontinued as test captain 2 more years

पूर्व भारतीय मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने कहा कि चिंता की कोई बात नहीं है और हाल के झटके को अस्थायी चरण के रूप में खारिज कर दिया. उन्होंने कहा कि  पिछले पांच वर्षों में विराट की जीत का अनुपात 65 प्रतिशत है, तो चिंता की क्या बात है? हमारी प्रतिद्वंद्वी टीमों को चिंता करनी चाहिए. टीम के 1-2 से हारने के एक दिन बाद कोहली ने टेस्ट कप्तान पद छोड़ने के अपने फैसले की घोषणा की. शास्त्री का मानना है कि ऐसे फैसलों का सम्मान किया जाना चाहिए. क्योंकि यह व्यक्तिगत पसंद पर निर्भर करता है.

कोहली ने 68 मैचों में 40 जीत के साथ भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान के रूप में अपना कार्यकाल समाप्त किया. हालांकि, छोटे प्रारूपों में अपने नेतृत्व के कार्यकाल के दौरान सीमित ओवरों की विश्व प्रतियोगिता जीतने में विफल रहने के लिए उन्हें अक्सर आलोचनाओं का सामना करना पड़ा. उनकी कप्तानी में भारतीय टीम कोई आईसीसी खिताब नहीं जीत सकी. शास्त्री ने कहा कि एक कप्तान का आकलन इस आधार पर नहीं होना चाहिये. उन्होंने कहा,

‘वर्ल्ड कप जीतने से पहले तेंदुलकर को भी 6 वर्ल्ड कप लगे। गांगुली, द्रविड़, लक्ष्मण जैसे कई प्रमुख खिलाड़ियों ने वर्ल्ड कप नहीं जीता, इसका मतलब ये नहीं है कि वो बुरे खिलाड़ी हैं। हमारे पास केवल 2 विश्व कप विजेता कप्तान हैं। यहां तक कि रोहित शर्मा ने भी वर्ल्ड कप नहीं जीता है।’

सभी Cricket Match Prediction और Fantasy Tips प्राप्त करें – CLICK HERE

Cricket Match Prediction | IPL 2022 Auction | Today Match Fantasy Tips | Fantasy Cricket Tips | ICC Teams  RankingsRavi Shastri News and Updates | Cricket Live Score