Ravi Shastri-Virat Kohli

भारतीय खेमे से आए कोरोना केस के चलते 5वां टेस्ट मैच रद्द हो गया. इस खबर के बाद से ही रवि शास्त्री (Ravi Shastri) और विराट कोहली (Virat Kohli) सिर्फ फैंस के ही नहीं बल्कि इंग्लिश मीडिया के भी निशाने पर हैं. भारतीय कोच की किताब के विमोचन के लिए लंदन में आयोजित किए गए कार्यक्रम पर भी अब सवालिया निशान खड़े होने लगे हैं. क्योंकि इस कार्यक्रम में स्वास्थ्य सुरक्षा प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया गया था.

फाइव स्टार होटल में बिना किसी डर के पहुंचे थे भारतीय कोच और खिलाड़ी

Ravi Shastri

चौथे टेस्ट की शुरूआत होने से पहले ही एक फाइव स्टार होटल में समारोह का आयोजन किया गया थे. इस कार्यक्रम के बाद ही भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) कोरोना वायरस संक्रमित पाए गए. इस केस के बाद गेंदबाजी कोच भरत अरूण, फील्डिंग कोच आर श्रीधर और फिजियो नितिन पटेल भी महामारी की चपेट से खुद को बचा नहीं सके. हालांकि इन सभी सदस्यों को वैक्सीन के दोनों डोज लग चुके हैं. अब भारतीय टीम के सहायक फिजियो योगेश परमार भी पॉजिटिव पाए गए हैं.

ये भी पढ़ें :- विराट कोहली की कप्तानी पर फिर मंडराया खतरा, अगर भारत विश्व कप नहीं जीती तो जा सकती है कप्तानी

इस केस के सामने आने के बाद भारतीय टीम ने 5वें मैच को ना खेलने का निर्णय लिया था. रवि शास्त्री के साथ ही उस कार्यक्रम में  भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) और उनके साथी खिलाड़ी भी मौजूद थे. इतना ही नहीं इस समारोह में बाहर से भी कई लोग हिस्सा लेने पहुंचे थे.

कार्यक्रम के लिए Ravi Shastri ने बीसीसीआई से नहीं ली थी अनुमति

photo 2021 09 11 16 14 49

हैरानी की बात तो ये थी कि, इस कार्यक्रम में शामिल हुए लोगों ने ब्रिटेन में नियमों में मिली रियायत की वजह से मास्क नहीं पहना था. इसके साथ ही ऐसी भी जानकारी निकलकर सामने आ रही है कि, रवि शास्त्री (Ravi Shastri) या कोहली ने टीम होटल में आयोजित हुए इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बीसीसीआई (BCCI) से भी लिखित अनुमति नहीं ली थी. इस बारे में बोर्ड के एक सीनियर अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि,

‘‘अध्यक्ष सौरव गांगुली या सचिव जय शाह से इस सिलसिले में किसी भी तरह की इजाजत नहीं ली गई थी. शायद उन्हें लगा कि ब्रिटेन में स्वास्थ्य सुरक्षा नियमों में ढील है तो अनुमति की जरूरत नहीं है.”

बता दें कि, टीम के प्रशासनिक मैनेजर गिरीश डोंगरे इससे जुड़े सभी काम संभालते हैं. समारोहों के लिए तमाम कागजी कार्रवाई पूरी करना और यह सुनिश्चित करना है कि प्रोटोकॉल का पालन किया जाये. इसकी पूरी जिम्मेदारी गिरीश डोंगरे पर है.

ये भी पढ़ें :- रवि शास्त्री और विराट कोहली की इस हरकत से बीसीसीआई हुआ शर्मिंदा, मीटिंग में उठ सकता है मुद्दा

कोच और कप्तान को इस वजह से नहीं मिलेगी सजा

photo 2021 09 11 16 14 35

आगे बीसीसीआई के अधिकारी ने ये भी जानकारी दी कि,

‘‘टी20 विश्व कप से पहले इस हरकत के लिए रवि शास्त्री (Ravi Shastri) या विराट कोहली को सजा मिलने की संभावना नहीं है. उसके कोच जा ही रहे हैं. कोहली टीम के कप्तान है तो उन्हें भी सजा नहीं दी जाएगी. डोंगरे से इस बारे में पूछताछ की जा सकती है कि बतौर प्रशासनिक मैनेजर उन्होंने क्या किया.’’

अधिकारी ने तो ये भी बताया कि,

‘‘बीसीसीआई चाहता था कि वो खेलें. लेकिन, कुछ सीनियर खिलाड़ी काफी डर गए थे कि दोनों बोर्ड उनके मानसिक स्वास्थ्य को लेकर चिंतित हो गए हैं. वो 10 दिन और क्वांरटीन साथ ही बायो बबल में रहने से डरे हुए थे. लेकिन, उन्होंने उस वक्त ये समझदारी क्यों नहीं दिखाई जब शास्त्री की किताब के विमोचन में जाने के लिए हामी भर दी.’’

कार्यक्रम में जाने से पहले सोचना चाहिए था- अधिकारी

photo 2021 09 06 16 19 27

सवाल ये उठ रहा है कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मैच के बाद ऋषभ पंत के पॉजिटिव होने की खबर सामने आने के बाद बोर्ड के सचिव जय शाह ने खिलाड़ियों को भीड़ से दूर रहने की सलाह दी थी. क्या इस कथनी पर किसी ने भी ध्यान दिया और नियम का पालन किया? अधिकारी ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि,

‘‘ब्रिटेन में नियमों में छूट है. लेकिन, इस तरह की भीड़ से बचना चाहिए था. इन लोगों ने समारोह में हिस्सा लिया और संक्रमण के मामले आने पर डर गए.”