ravi msk prasad

टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) का कार्यकाल टीम इंडिया के साथ खत्म हो गया है। चारों ओर शास्त्री के कार्यकाल के दौरान मिली सफलताओं और असफलताओं पर चर्चा हो रही है। इस बीच पूर्व न्यूजीलैंड खिलाड़ी साइमन डॉल ने भी शास्त्री के कार्यकाल पर टिप्पणी की है। उनका कहना है कि शास्त्री ने जहां, से शुरुआत की थी, वहां से टीम को बेहतर स्थिति में लाकर छोड़ा है।

Ravi Shastri ने बेहतर स्थिति में पहुंचाया

Ravi Shastri

2017 में चैंपियंस ट्रॉफी के बाद अनिल कुंबले के विवादस्पद तरीके से कोचिंग की जिम्मेदारी छोड़ने के बाद बीसीसीआई ने Ravi Shastri को टीम इंडिया का हेड कोच नियुक्त किया था। जिसके बाद से वह विराट कोहली के साथ मिलकर लगातार टीम को आगे लेकर बढ़े हैं। अब पूर्व न्यूजीलैंड क्रिकेटर साइम डॉल ने रवि शास्त्री के कार्यकाल की तारीफ की। उन्होंने कहा,

“शास्त्री की विरासत महान है और मुझे लगता है कि यह उनकी प्रसिद्ध द्विपक्षीय जीत की संख्या पर निर्भर करता है। उन्होंने टीम में जो जज्बा दिखाया है वह अद्भुत है जहां खिलाड़ियों ने जोरदार मुकाबला किया है। पिछली ऑस्ट्रेलिया सीरीज को देखें जहां भारत ने इतनी अच्छी वापसी की और वह सबसे बड़ी सीरीज है जिसे मैंने 2005 एशेज के बाद देखा है। जब उन्होंने शुरुआत की थी, तब से उन्होंने टीम को बेहतर स्थिति में छोड़ा है।”

T20 WC के साथ खत्म हुआ कोहली-शास्त्री युग

Ravi Shastri
Ravi Shastri

यूएई में खेले गए T20 World Cup 2021 के साथ ही विराट कोहली और रवि सास्त्री के युग का भी अंत हो गया है। कहीं ना कहीं शास्त्री को हमेशा एक मलाल रहेगा, कि वह अपनी टीम को आईसीसी ट्रॉफी नहीं जिता सके। हालांकि उनके अंतर्गत टीम ने कई बड़े आयाम हासिल किए।

वह Ravi Shastri ही हैं, जिनकी कोचिंग में ही भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसके ही घर में टेस्ट सीरीज में एक बार नहीं बल्कि दो बार हराया। ऐसा करने वाली भारत एकमात्र एशियाई टीम है। 2018-19 और फिर 2020-21 में भारत ने ये उपलब्धि हासिल की। भारत द्विपक्षीय सीरीज में सभी 5 T20I जीतने वाली पहली टीम भी थी जब उसने न्यूजीलैंड को 5-0 से हराया था। इंग्लैंड में भी टेस्ट सीरीज को 2-1 की बढ़त पर छोड़ा है। ये उपलब्धियां हमेशा याद की जाएंगी।