ravi msk prasad

निवर्तमान मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने मौजूदा ICC पुरुष T20 विश्व कप से भारत के चौंकाने वाले और निराशाजनक ग्रुप-स्टेज से बाहर होने के बाद बायो-बबल की चुनौतियों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि अगर डोनाल्ड ब्रैडमैन जैसे दिग्गज को भी लंबे समय तक बुलबुले में रहने के लिए कहा जाए तो उनका भी औसत कम हो जाएगा।

शास्त्री, गेंदबाजी कोच भरत अरुण और क्षेत्ररक्षण कोच आर श्रीधर का कार्यकाल समाप्त हो गया जब भारत सुपर 12 में टूर्नामेंट से बाहर हो गया। कप्तान विराट कोहली, उपकप्तान रोहित शर्मा और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह जैसे भारतीय खिलाड़ी जून में साउथेम्प्टन में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल की शुरुआत के बाद से बायो-बबल में हैं।

मैं मानसिक रूप से थका हुआ हूं : Ravi Shastri

Ravi Shastri
File Photo Of Ravi Shastri

शास्त्री ने एक वर्चुअल कोंफ्रेंस के दौरान कहा, “टीम पिछले 6 महीनों से बुलबुले में है। मैं मानसिक रूप से थका हुआ हूं, लेकिन ये खिलाड़ी मानसिक और शारीरिक रूप से थके हुए हैं। हम आदर्श रूप से आईपीएल और टी 20 विश्व कप के बीच एक बड़ा अंतर पसंद करते।”

शास्त्री ने आगे और कहा, “जब आप छह महीने बुलबुले में होते हैं, तो इस टीम में बहुत सारे खिलाड़ी हैं जो सभी प्रारूप खेलते हैं। पिछले 24 महीनों में, वे सिर्फ 25 दिनों के लिए घर में रहे हैं। मुझे परवाह नहीं है कि आप कौन हैं, अगर आप ब्रैडमैन हैं और आप एक बुलबुले में हैं तो भी आपका औसत नीचे आ जाएगा क्योंकि आप इंसान हैं। यह ऐसा कुछ नहीं है जिसे आप पीछे की तरफ पेट्रोल डालते हैं और उस आदमी से आगे बढ़ने की उम्मीद करते हैं।”

अगले टी20 विश्वकप में वापसी करेगी भारतीय टीम

ravi shastri
ravi shastri talking with indian players in dressing room.

भारत के वर्तमान कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) का मानना ​​है कि भारतीय टीम अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप में जोरदार वापसी करेगी। हम यहां पहले दो मैचों के परिणाम से निराश हैं लेकिन ईमानदारी से कहूं तो मैं यहां कोई बहाना बनाने नहीं आया हूं।

न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे गेम में हमारे पास साहस की कमी थी। साथ ही इसके बाद उन्होंने और भी आगे बात करते हुए कहा, “लड़कों के लिए यह सीखने के लिए काफी है और उन्हें अगले साल फिर से मौका मिलेगा। ऐसा अक्सर नहीं होता है कि आपके पास 12 महीनों में दो विश्व कप हों, इसलिए उम्मीद है कि वे जाएंगे और कुछ कर के दिखाएंगे।”