Ravi shastri on KL Rahul's slow knock against RCB in Eliminator Match-IPL 2022

Ravi Shastri: लखनऊ सुपर जाइंट्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच खेले गए आईपीएल 2022 के एलिमिनेटर मैच में लखनऊ के कप्तान केएल राहुल ने अर्धशतक तो जड़ा, लेकिन उन्होंने काफी धीमी पारी खेली. एलएसजी को क्वालीफायर 2 में प्रवेश करने के लिए 20 ओवरों में 208 रनों की दरकार थी.

ऐसे में राहुल की धीमी पारी टीम को बिलकुल रास नहीं आई और अंत में सुपर जाइंट्स 14 रनों से मैच हार गई और टूर्नामेंट से बाहर हो गई. वहीं भारतीय टीम के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने राहुल की इस पारी को लेकर बड़ा बयान दिया है.

Ravi Shastri ने राहुल की धीमी पारी को लेकर कही बड़ी बात

Ravi Shastri on KL Rahul

आपको बता दें कि केएल राहुल ने आरसीबी के खिलाफ एलिमिनेटर मैच में 58 गेंदों का सामना कर 79 रन बनाए. इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 136.21 का था. अगर 200 से ऊपर रनों का टारगेट चेज़ करने के लिहाज़ से देखा जाए तो हमे राहुल के बल्ले से यह काफी धीमी पारी देखने को मिली. ऐसे में पूर्व भारतीय खिलाड़ी रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने केएल राहुल की इस धीमी पारी पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए स्टारस्पोर्ट्स पर कहा,

“उन्हें थोड़ा पहले जाना चाहिए था. कभी-कभी, आप बहुत लंबा इंतज़ार करते हैं लेकिन यहां, 9वें और 14वें ओवर के बीच उन्हें किसी ऐसे गेंदबाज़ को टारगेट करना चाहिए था जिसे निशाना बनाया जा सके. खासकर उस साझेदारी (केएल राहुल-दीपक हुड्डा) के दौरान उन्हें ऐसा करना ही चाहिए था.”

“थोड़ा और चांस ले सकते थे”

Ravi Shastri on KL Rahul

रवि शास्त्री ने आगे अपने बयान में इस बात का भी ज़िक्र किया कि केएल राहुल को मैच के दौरान थोड़ा और चांस लेना चाहिए था. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मिडिल ओवर में ही राहुल किसी गेंदबाज़ को अपना निशाना बना सकते थे. क्योंकि अंत में हर्षल पटेल गेंदबाज़ी करने आने वाले थे. शास्त्री ने कहा,

“जब हुड्डा और राहुल बल्लेबाज़ी कर रहे थे , मुझे लगता है कि भले ही उन्होंने जितना अच्छा किया हो लेकिन, केएल राहुल थोड़ा और चांस ले सकते थे क्योंकि हुड्डा भी गेंद को हिट करने के लिए जा रहे थे. थोड़ा और चांस लेना चाहिए था उन्हें वो 9वें और 13वें ओवर के बीच किसी को निशाना बना सकते थे क्योंकि अंत में हर्षल पटेल वापस गेंदबाज़ी के लिए आने वाले थे. अगर उस वक्त वो रनरेट को नीचे ले आते तो इससे आरसीबी थोड़ा परेशान हो सकती थी.”