Ravi Shastri
Ravi Shastri

भारतीय टीम के पूर्व कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने अपने बेबाक बयानों के लिए फैंस के बीच सुर्खियों में बने रहते हैं. शास्त्री बिना हिचकाए टीम इंडिया से जुड़े किसी भी मुद्दे पर अपनी बात रखने से गुरेज नहीं करते हैं. जिसकी वजह से कई बार उन्हें आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ता है. लेकिन वो इन सब की परवाह नहीं करते हैं.

उन्होंने हाल ही में एक बार फिर भारतीय टीम के खिलाड़ियों को लेकर बड़ा बयान दिया है. जिसके बाद कयास लगाने जा लगे हैं कि रोहित-विराट जैसे दिग्गज खिलाड़ियों की छुट्टी कर टी20 प्रारूप में नए खिलाड़ियों को मौका दिया जा सकता है. ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या दिग्गजों की इस फॉर्मेट से छुट्टी हो सकती है?

Ravi Shastri के इन कयासों से होगी सीनियर खिलाड़ियों की छुट्टी?

Ravi Shastri on team India

ऑस्ट्रेलिया में 16 अक्टूबर से टी20 विश्व कप का महासंग्राम शुरू होने जा रहा है. जहां टीम इंडिया अपना तिरंगा लहराने के लिए पहुंच चुकी है. जिसमें टीम इंडिया के सीनियर खिलाड़ी विराट कोहली, कप्तान रोहित शर्मा और 37 साल की उम्र में वापसी करने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक अपना जलवा दिखाते हुए नजर आ सकते हैं. ऐसे में बड़ा सवाल यह कि क्या इस विश्व कप के बाद टी20 प्रारूप में टीम इंडिया के नए और युवा खिलाड़ियों को मौका दिया जा सकता है? ऐसा हम नहीं बल्कि पूर्व कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) का मानना है. जिन्होंने बड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा,

“मैं इस विश्व कप के बाद भारत के पास एक नई टीम देख रहा हूं. 2007 में हमने देखा था. तेंदुलकर, द्रविड़ और गांगुली नहीं थे. धोनी ने टीम का नेतृत्व किया और टूर्नामेंट जीत गए. ऐसा फिर हो सकता है. ऐसा नहीं है कि वे अच्छा नहीं कर रहे हैं, लेकिन आप उन्हें अन्य दो प्रारूपों के लिए चाहते हैं. अगले साल विश्व कप है और आप खिलाड़ियों पर बोझ नहीं डालना चाहते.”

भविष्य में टीम इंडिया में युवा खिलाड़ियों का होगा बोलबाला

Deepak Chahar - Team India

बीसीसीआई लगातार घरेलू क्रिकेट का आयोजन करता रहता है. जिसमें नए-नए खिलाड़ियों की प्रतिभा निकलकर सामने आ रही है. घरेलू क्रिकेट की बात करें तो सरफराज खान, यशस्वी जायसवाल, मुकेश कुमार अन्य ऐसे ढेरों नाम हैं जो अपने शानदार प्रदर्शन के चलते टीम इंडिया में अपना डेब्यू करने के लिए बेताब नजर आ रहे हैं. वहीं कई युवा खिलाड़ियों की टीम में एंट्री भी हुई है.

जिसमें दीपक हुड्डा, उमरान मलिक, अर्शदीप सिंह, आवेश खान रवि बिश्नोई और शाहबाद अहमद जैसे खिलाड़ियों ने डेब्यू कर टीम इंडिया में भविष्य में खेलने के लिए दावा ठोक दिया है. ऐसे में बड़ा सवाल ये बनता है कि इन खिलाड़ियों को मौका देने के लिए सीनियर खिलाड़ियों को दरकिनार करने पड़ेगा या फिर वो खुद ही अपना वर्कलोड कम कर लेंगे. तभी भविष्य के लिए नई टीम तैयार हो पाएगी. वहीं इस मामले पर  रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने अपना पक्ष रखते हुए कहा,

“जितनी क्रिकेट इन दिनों खेली जा रही है उसे देखते हुए यह संतुलन बनाना जरूरी है कि कौन सा खिलाड़ी कितनी क्रिकेट खेल रहा है. उसे कब आराम दिया जाना चाहिए? बीसीसीआई अध्यक्ष इसमें अहम भूमिका निभा सकते हैं. कल अगर किसी खिलाड़ी को भारत के लिए खेलने के लिए आईपीएल के दौरान कुछ मैचों में आराम देने की जरूरत है तो देना चाहिए. एक खिलाड़ी भारतीय टीम के लिए बेहद अहम है और देश का हित में सर्वोपरि है.”