Ravi shastri kapil dev

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का खिताब गंवाने के बाद रवि शास्त्री (Ravi shastri) के कोचिंग को लेकर कई तरह के सवाल खड़े होने लगे हैं. अब तक नए कोच को लेकर भी कई बड़े बयान जारी किए जा चुके हैं. इसी बीच भारतीय टीम के पूर्व कप्तान ने भी टीम इंडिया के मौजूदा कि कोच को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है. क्या कुछ इस बारे में कपिल देव ने कहा है, बताते हैं आपको इस खबर के जरिए…

टी20 वर्ल्ड कप के बाद खत्म हो जाएगा मौजूदा कोच का करार

photo 2021 06 19 11 54 33

दरअसल मौजूदा कोच के बारे में पूर्व कप्तान कपिल देव का मानना है कि, यदि वो अच्छी रिजल्ट दे रहे हैं तो उन्हें भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच के पद से हटाने का कोई कारण नहीं है. दअसल अक्टूबर-नवंबर में संयुक्त अरब अमीरात में टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) खेला जाना है. इसके बाद रवि शास्त्री (Ravi shastri) का करार खत्म होने वाला है. ऐसे में वो इस पद पर तभी बने रहेंगे, जब इस पद के लिए वो दोबारा से आवेदन आवेदन करेंगे.

कपिल देव के नेतृत्व में भारतीय टीम ने 1983 में वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया था. उस टीम में मौजूदा कोच की भी मौजूदगी थी. लेकिन, प्लेइंग 11 में उन्हें जगह नहीं दी गई थी. फिलहाल इस तरह की खबरें तेजी से आ रही हैं कि, बीसीसीआई नेशनल क्रिकेट अकादमी के मौजूदा प्रमुख राहुल द्रविड़ को टीम इंडिया का मुख्य कोच बनाने के बारे में सोच सकती है.

रवि शास्त्री (Ravi shastri) की मौजूदगी में टीम का अच्छा रिजल्ट आता है तो उन्हें पद से हटाने की कोई वजह नहीं

859819 twitter 8

इस समय राहुल द्रविड को श्रीलंका दौरे पर पहुंची टीम का मुख्य कोच की जिम्मेदारी दी गई है. कोच के बारे में बातचीत करते हुए कपिल देव ने ‘एबीपी न्यूज’ से कहा कि,

‘मुझे नहीं लगता कि इस बारे में अभी बात करने की जरूरत है. देखते हैं कि श्रीलंका में प्रदर्शन कैसा रहता है. नए कोच को तैयार करने में कोई बुराई नहीं है. लेकिन, अगर रवि शास्त्री अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं तो उन्हें हटाने की भी कोई वजह नहीं है. इससे कोचों और खिलाड़ियों पर अनावश्यक दबाव बनता है.’

रवि शास्त्री (Ravi shastri) की कोचिंग में टीम इंडिया दो बार ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज अपने नाम कर चुकी है. साल 2019 में टीम वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल और वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में भी पहुंच चुकी है. लेकिन, दोनों ही बार टीम को न्यूजीलैंड के हाथों हार का सामना करना पड़ा था. जल्द ही विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया इंग्लैंड के खिलाफ 5 मैचों की टेस्ट सीरीज खेलेगी. तो वहीं धवन की कप्तानी में टीम श्रीलंका में सीमित ओवरों की सीरीज खेलेगी.

भारतीय टीम के पास खिलाड़ियों का बड़ा पूल

Kapil Dev WTC

आगे बातचीत को बढ़ाते हुए कपिल देव ने ये भी कहा कि,

‘भारत के पास खिलाड़ियों का बड़ा पूल है. यदि खिलाड़ियों को मौका मिलता है और भारत इंग्लैंड-श्रीलंका में दो अलग-अलग टीमें उतारकर जीत सकता है तो इससे बेहतर क्या होगा.’