ravi shastri on memes

T20 World Cup 2021 में भारतीय क्रिकेट टीम के अभियान के साथ ही रवि शास्त्री (Ravi Shastri) का कार्यकाल भी समाप्त हो गया है। मगर वह लगातार खबरों में बने हुए हैं, जिसका कारण उनके बयान हैं। हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान जब शास्त्री से जब पूछा गया कि देश पहले है या आईपीएल। तो इसपर Ravi Shastri ने जवाब में अपने देश के लिए खेलने को प्राथमिकत बताया और कहा कि ऐसा कोई सवाल भी खेलते वक्त नहीं आता।

IPL पहले या देश?

Ravi Shastri
Ravi Shastri

काफी वक्त से क्रिकेट के गलियारों में एक डिबेट छिड़ी है। जिसमें कपिल देव सहित तमाम दिग्गजों का मानना है कि अब भारतीय क्रिकेटर्स आईपीएल को देश से पहले तवज्जों दे रहे हैं। इसी के चलते वह टी20 विश्व कप में भी सर्वश्रेष्ठ नहीं कर सके। मगर पूर्व हेड कोच Ravi Shastri का कुछ और ही कहना है। ‘इंडिया टुडे’ के साथ बातचीत करते हुए रवि शास्त्री ने आईपीएल पहले या देश के जवाब में कहा,

“जाहिर तौर पर। इसको लेकर कोई सवाल ही नहीं है, अगर ऐसा नहीं होता तो पिछले पांच सालों में इस तरह का प्रदर्शन आपको देखने को नहीं मिलता। अगर देश के लिए खेलते हुए आपको दिमाग उस समय वहां नहीं होता तो, कौन ही बेवकूफ होगा जो देश के लिए खेलने से ज्यादा तवज्जो फ्रेंचाइजी क्रिकेट को देगा।”

ऐसा कहने वालों के लिए नहीं है मेरे पास टाइम

Ravi Shastri ने आगे इस बात पर जोर दिया कि जिन खिलाड़ियों को भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिलता है, वह काफी लकी होते हैं। साथ ही कहा कि जिन लोगों को ऐसा लगता है कि आईपीएल को खिलाड़ी प्राथमिकता दे रहे हैं, उनके लिए मेरे पास टाइम नहीं है। पूर्व हेड कोच ने कहा,

“वह भारत के लिए खेल रहे हैं, आपके चेस्ट पर बिल्ला होता है, आपको दुनिया के करोड़ों लोग देख रहे होते हैं। आप काफी लकी हैं, जो इतनी आबादी वाले देश में उन ग्यारह खिलाड़ियों में शामिल हैं जिनको देश का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिल रहा है। तो यह सब दूर की कोड़ी है और जो ऐसा कह रहा है उसके लिए मेरे पास टाइम नहीं है।”

कपिल देव ने दिया था बयान

Ravi Shastri
Ravi Shastri

T20 World Cup 2021 में टीम इंडिया के निराशाजनक अंत के बाद विश्व कप विजेता कप्तान कपिल देव ने बयान दिया था कि हमारे देश के खिलाड़ी आईपीएल को अधिक तवज्जो देने लगे हैं। उन्होंने कहा था कि,

“हम इस पर क्या कह सकते हैं, जब खिलाड़ी देश की बजाए आईपीएल को तवज्जो देने लगें। खिलाड़ियों को देश के लिए खेलने पर गर्व होना चाहिए। मुझे उनकी वित्तीय हलात की जानकारी नहीं है। लेकिन मैं मानता हूं कि खिलाड़ियों को पहली प्राथमिकता देश होना चाहिए इसके बाद फ्रैंचाइजी। मुझे लगता है कि आईपीएल और वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में कुछ गैप रहना चाहिए। लेकिन एक बात तो साफ है कि आज हमारे खिलाड़ियों को आईपीएल से काफी एक्सपोजर मिल रहा है। लेकिन वह इसका कोई फायदा नहीं उठा सके।”