Prev1 of 8
Use your ← → (arrow) keys to browse

आईपीएल में मजबूत बल्लेबाजी वाली टीमों के कारण गेंदबाजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है. गेंदबाजों पर रन रोकने और विकेट लेने का दबाव भी रहता है. आईपीएल में जिस तरह बल्लेबाज रन बनाते हैं, उससे कहा जा सकता है कि यह बल्लेबाजों का टूर्नामेंट है. गेंदबाजों को आईपीएल में खासी मेहनत करते हुए ही सफलता मिल पाती है.

एक मैच में खराब खेल उन्हें टीम से बाहर बैठा सकता है. इस साल भी आईपीएल में टीमों ने अपने-अपने बेहतरीन गेंदबाजों की तैयारी और रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है. हर टीम की बल्लेबाजी के हिसाब से ही गेंदबाजों की दिशा तय की जाती है. कभी स्पिनर और कभी तेज गेंदबाजों का मिश्रण अंतिम एकादश में शामिल किया जाता है.

कम स्कोर पर टीमों को रोकने के लिए टॉप 4 गेंदबाजों को खिलाने पर हमेशा जोर दिया जाता है. गेंदबाज भी यही चाहते हैं कि खराब खेल से खुद की टीम के बल्लेबाजों पर दबाव ज्यादा बढ़ेगा. इस दबाव को रोकने के लिए उन्हें तगड़ी गेंदबाजी का प्रदर्शन करना ही होता है,

इसी कारण इस आर्टिकल में उन टीमों का जिक्र किया गया है जिनके पास इस साल आईपीएल के लिए सबसे मजबूत गेंदबाजी आक्रमण है. इस दौरान हमने टीमों के रेटिंग के आधार पर तुलनात्मक विश्लेषण किया है. तो चलिए शुरू करते हैं.

8, राजस्थान रॉयल ( 6 )

राजस्थान रॉयल्स के पास हमेशा की तरह एक मजबूत गेंदबाजी यूनिट हैं. टीम की तेज गेंदबाजी की कमान जोफ्रा आर्चर के कंधो पर होगी. इसके साथ नीलामी 2020 में राजस्थान ने ओशेन थामस, एंड्रयू टाई और टॉम करन जैसे स्टार गेदबाजों को टीम में शामिल किया हैं. हालाँकि इन खिलाड़ियों की टीम में जगह बनना बहुत मुश्किल है.

वहीं टीम में वरुण आरोन और अंकित राजपूत के रूप में भी दो इंडियन तेज गेदबाज हैं. जो आईपीएल में अभी तक इतने ज्यादा सफल नहीं रहे हैं. जबकि स्पिन विभाग में श्रेयस गोपाल, मयंक मारकंडे, राहुल तेवातिया और महिपाल जैसे इंडियन फिरकी गेंदबाज हैं.

लेकिन टीम के लिए चिंता की बात यह है कि जोफ्रा आर्चर के अलावा कोई भी अन्य तेज गेंदबाज पिछले कुछ सालों से टीम के लिए सफल नहीं रहा है.

Prev1 of 8
Use your ← → (arrow) keys to browse