Virat Kohli

भारत और दक्षिण अफ्रीका (IND vs SA) के बीच खेले गए 3 मैचो की टेस्ट सीरीज में मिली हार के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने टेस्ट क्रिकेट की कप्तानी से भी इस्तीफा दे दिया. विराट ने टी20 की कप्तानी पहले ही छोड़ दी थी.

वही साउथ अफ्रीका का दौरा शुरू होने से पहले उनसे वनडे की कप्तानी भी वापस ले ली गयी थी. बीसीसीआई (BCCI) के इस फैसले के ऊपर काफी ज्यादा विवाद भी हुआ था. विराट की टेस्ट की कप्तानी छोड़ने के पीछे भी लोग बोर्ड को जिम्मेदार ठहरा रहे है. इस कड़ी में एक और नया नाम पाकिस्तान के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज राशिद लतीफ़ (Rashid Latif) का जुड़ गया है.

बीसीसीआई की योजना हुई विफल

Virat Kohli

विराट कोहली(Virat Kohli) के भारत की टेस्ट टीम के कप्तान के रूप में पद छोड़ने के फैसले से कई लोगों को हैरानी हुई. रोहित के टी20 और वनडे कप्तान बनाए जाने और कोहली के टेस्ट कप्तान रहने के बाद ये कयास लगाए जा रहे थे कि इन फॉर्मेट के अलग-अलग कप्तान बनाने का चलन भारतीय क्रिकेट में लागू होने जा रहा है, लेकिन कोहली की घोषणा ने उन योजनाओं को रद्द कर दिया है.

कोहली के बयान से ये साफ़ लग रहा है कि, यह उनका अपना फैसला है. लेकिन फिर भी कई लोगो को लगता है कि, यह बोर्ड के द्वारा बनाए गए विवाद का नतीजा है. पाकिस्तान के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज राशिद लतीफ़ (Rashid Latif) का भी कुछ ऐसा ही मानना है.

यह दो दिग्गजों की लड़ाई है: राशिद लतीफ़ 

bcci-virat kohli

पाकिस्तान के पूर्व विकेटकीपर राशिद लतीफ़ (Rasahid Latif) का मानना है कि, विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी छोड़ने के पीछे का कारण, उनके और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Saurav Ganguly) के बीच हुई विवाद है. राशिद लतीफ ने ‘कॉट बिहाइंड’ पर एक वीडियो में कहा,

ऐसा होने का असली कारण यह है कि आपका बोर्ड के साथ झगड़ा है. विराट चाहे कुछ भी कहें कि यह उनका फैसला है या सौरव गांगुली क्या ट्वीट करते हैं, यह दो दिग्गजों की लड़ाई है.

विराट और बोर्ड के बीच चल रहा है गहरा विवाद

Virat Kohli test Captaincy in Danger

विराट (Virat Kohli) ने टी20 वर्ल्ड कप 2021 के बाद टी20 की कप्तानी छोड़ दी थी. उसके बाद साउथ अफ्रीका दौरे से पहले उनसे वनडे की भी कप्तानी छीन ली गई थी. बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Saurav Ganguly) ने कहा था कि विराट को टी20 कप्तानी छोड़ने से मना किया गया था और वनडे कप्तानी रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को सौंपने से पहले उनसे बात की गई थी. विराट ने इन बातों को पूरी तरह से नकार दिया था. जिसके बाद इस मामले को लेकर काफी विवाद हुआ था.