Rajvardhan Hangargekar

हाल में खेली गयी Under-19 World cup 2022 के फाइनल मुकाबले में टीम इंडिया ने इंग्लैंड को हराकर रिकॉर्ड पांचवीं बार ट्रॉफी पर कब्जा किया था. जिसमें टीम के तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर राजवर्धन हंगरगेकर (Rajvardhan Hangargekar) ने अपने प्रदर्शन से काफी चर्चा बटोरी. जिसके बाद IPL 2022 mega Auction में पिछले साल की चैम्पियन महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) ने उन्हें अपनी टीम में शामिल करने के लिए 1.5 करोड़ रूपये की बोली लगाई.

चेन्नई सुपर किंग्स की पीली जर्सी में नजर आयेंगे राजवर्धन

Rajvardhan Hangargekar

अंडर-19 वर्ल्ड कप के मौजूदा चैम्पियन टीम इंडिया के खिलाड़ियों के ऊपर उम्मीद के मुताबिक बड़ी बोली लगी. फाइनल में 5 विकेट लेने वाले ऑलराउंडर राज बावा (Raj Bawa) को 2 करोड़ रूपये में पंजाब ने अपने साथ जोड़ा. वहीं, कप्तान यश धुल (Yash Dhull) को दिल्ली कैपिटल्स टीम का साथ मिला.

इसी कड़ी में टीम के ताबड़तोड़ आलराउंडर राजवर्धन हंगरगेकर (Rajvardhan Hangargekar) को आईपीएल की सबसे कामयाब टीमों में से एक ने 1.5 करोड़ की बड़ी कीमत देकर अपनी टीम में शामिल कर लिया. 20 लाख की बेस प्राइस वाले इस खिलाड़ी के लिए मुंबई इंडियंस ने भी रूचि दिखाई थी. लेकिन, अंत में चेन्नई उन्हें अपने साथ जोड़ने में सफल रहा.

ऑफ स्पिनर से बने तेज गेंदबाज

Rajvardhan Hangargekar

मुंबई से ताल्लुक रखने वाले भारतीय अंडर-19 टीम (Indian Under-19 Team) के तेज गेंदबाज राजवर्धन हंगरगेकर (Rajvardhan Hangargekar) 140 के ऊपर की रफ़्तार से गेंदबाजी करते है. विकेट टू विकेट गेंदबाजी करना उनकी सबसे बड़ी ताकत है. हालाँकि राजवर्धन अपने क्रिकेट करियर के शुरूआती दिनों में तेज गेंदबाजी नहीं बल्कि ऑफ स्पिन किया करते थे.

महाराष्ट्र की उस्मानाबाद डिस्ट्रिक्ट से अंडर-14 क्रिकेट खेलते वक्त वे ऑफ स्पिन ही करते थे, लेकिन टीम में तेज गेंदबाजों की कमी होने के कारण उन्होंने टीम की जरुरत को पूरा करने के लिए तेज गेंदबाजी शुरू कर दी. उन्हें पुणे के मोहन जाधव (Mohan Jadhav) और तेजस मातापुरकर (Tejas Matapurkar) ने ट्रेनिंग दी.

पिछले 2 साल में डाले हैं 800 ओवर

Rajvardhan Hangargekar

राजवर्धन (Rajvardhan Hangargekar) के कोच मोहन जाधव (Mohan Jadhav) की मानें तो, वो वह एक स्प्रिंटर की तरह दौड़ता था. उसके पास अच्छी इनस्विंगर है, यॉर्कर है और बाउंसर भी अच्छी फेंकता है.

इसके साथ ही उसने अपनी बल्लेबाजी को भी निखारा है. वहीं उनके फिटनेस ट्रेनर तेजस ने बताया कि, पिछले 2 साल में उसने नेट्स में 800 ओवर फेंके हैं और रफ्तार भी अच्छी खासी रही है. हाल में खेली गयी अंडर-19 वर्ल्ड कप और उससे पहले खेली गयी अंडर-19 एशिया कप में उन्होंने अपनी तेज गेंदबाजी और ताबड़तोड़ बल्लेबाजी से काफी धूम मचाई है.