भारत के युवा तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट इस वर्ष इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की नीलामी में सबसे महंगे भारतीय खिलाड़ी रहे. बेहद उतराव-चढ़ाव के बाद आखिरकार राजस्‍थान रायल्‍स की टीम इस गेंदबाज पर 11 करोड़ रुपये खर्च कर अपनी टीम में शामिल किया. राजस्थान का यह फैसला सोशल मीडिया यूजर्स को ज्यादा समझ नहीं आया था. इसी वजह से यूजर्स ने राजस्थान और उनादकट को जमकर ट्रोल किया था. अब जब यह सीजन शुरू होने में मात्र चार दिन बाकी है तब इस युवा गेंदबाज ने उन ट्रोलर्स के ट्रोल पर प्रतिक्रिया दी है.

स्पोर्ट्स स्टार को दिए इंटरव्यू में उनादकट ने कहा,

“बतौर गेंदबाज ऊंचे दाम पर लिया जाना बेहतरीन अनुभूति है. मुझे लगता है कि ये मेरी कड़ी मेहनत का परिणम है. इस प्राइज टैग के साथ मुझे फील्ड पर भी बेहतरीन परफॉर्म करने की जरूरत है. मुझ पर कोई दबाव नहीं है. मैं अच्छी फॉर्म में हूं और चुनौतियों का इंतजार कर रहा हूं. आईपीएल के दौरान मैं अतिरिक्त प्रयास करूंगा.”

बता दें, महंगी नीलामी के लिए उनकी आईपीएल टीम राजस्थान रॉयल्स का लोगों ने काफी मजाक उड़ाया था. इस दौरान लोगों ने ये तक लिखा कि उनादकट को इतने महंगे में खरीदने के लिए राजस्थान रॉयल्स पर और कुछ सालों के लिए बैन लगना चाहिए. एक यूजर ने ये तक कहा कि उनादकट की जितनी बोली लगी है वो उतने के लायक थे नहीं. वहीं कुछ यूजर्स ने कहा कि दूसरे बॉलर्स सोच रहे होंगे कि उनदकट में ऐसा क्या था, जो हम में नहीं था. हालांकि उस दौरान उनादटक लोगों द्वारा उड़ाए गए मजाक पर कुछ नहीं बोले थे.

महंगे बिकने का कारण बेहद अनुशासित होने के साथ बाएं हाथ से गेंदबाजी करना उनादकट के लिए प्‍लस पाइंट है. 26 वर्ष के जयदेव ने अब तक भारत के लिए एक टेस्‍ट, सात वनडे और चार टी20 मैच खेले हैं. टेस्‍ट क्रिकेट में उन्‍हें अभी तक कोई विकेट नहीं मिला है लेकिन वनडे में 8 और टी20 में चार विकेट इस खब्‍बू गेंदबाज के नाम हैं.

गौरतलब है कि उनादकट को खरीदने के लिए राजस्थान रॉयल्स कोलकाता नाइट राइडर्स, किंग्स इलेवन पंजाब और चेन्नई सुपर किंग्स से कड़ी टक्कर मिली थी. उनादकट पिछले सीजन में राइजिंग पुणे सुपरजाएंट की तरफ से खेले थे और सीजन के दूसरे सबसे सफल गेंदबाज रहे थे.

Anurag Singh

लिखने, पढ़ने, सिखने का कीड़ा. Journalist, Writer, Blogger,

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *