aa Cover ti6kgpvdm92vt6q919hs23dpa2 20190304011901.Medi

आईपीएल के जारी सीजन के दौरान कई खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन का नजारा देखने को मिल रहा है, आईपीएल भारतीय खिलाड़ियों के लिए एक ऐसा प्लेटफार्म है, जिसमें अगर टीम इंडिया के क्रिकेटर शानदार प्रदर्शन करते हैं तो वह भारतीय क्रिकेट टीम में एंट्री भी कर सकते हैं, इसी क्रम में हम बात कर रहे हैं एक ऐसे भारतीय क्रिकेटर के बारे में जो आईपीएल में लगातार शानदार प्रदर्शन कर रहा है और वह टीम इंडिया में भी एंट्री कर सकता है।

जाधव की जगह हो सकती है टीम इंडिया मे इंट्री

fmEPshTs

टीम इंडिया को नंबर 6 नंबर 7 पर खेलने के लिए एक ऐसे खिलाड़ी की जरूरत पड़ती है जो टीम के लिए ना सिर्फ जबरदस्त प्रदर्शन का नजारा पेश करते हुए संकटमोचक की भूमिका निभाई बल्कि गेंदबाजी में भी विकेट चटकाए टीम इंडिया के लिए यह काम इससे पहले केदार जाधव कर रहे थे, जो कि फिलहाल खराब फॉर्म में चल रहे हैं और मौजूदा प्रदर्शन को देखते हुए ऐसा लगता है कि अगर राहुल तेवटिया को मौका मिले तो वह भारतीय क्रिकेट टीम के लिए यह जिम्मेदारी बखूबी निभा सकते हैं।

मौजूदा सीजन में तेवतिया ने किया शानदार प्रदर्शन

RAHULTEWATIA

आईपीएल के मौजूदा सीजन राहुल तेवटिया के प्रदर्शन पर नजर डालें तो अब तक चले गए राजस्थान के लिए 7 मैचों में जबरदस्त बल्लेबाजी की, जिसमें उन्होंने 37.80 की औसत एवं 152.41 की स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की और एक अर्धशतक की बदौलत 189 रन बनाए, इस दौरान राहुल तेवटिया ने 9 चौके और 15 छक्के लगाए।

वही गेंदबाजी की बात करें तो टेवटिया ने 7 मैचो में 5 बल्लेबाजों को आउट किया वही उनकी गेंदबाजी इकॉनमी की बात करें तो उन्होंने 7.90 के इकॉनमी से रन खर्च किए। वही दूसरी तरफ जाधव के प्रदर्शन पर नजर डाले तो वह चेन्नई के लिए लगातार खराब प्रदर्शन कर रहें हैं।

जाधव लगातार हो रहें है फ़ेल

4bc1929c kj7

वही दूसरी तरफ केदार जाधव के प्रदर्शन पर नजर डाले तो चेन्नई के लिए खेलने वाला यह बल्लेबाज लगातार खराब प्रदर्शन कर रहा है। केदार जाधव ने चेन्नई के लिए इस बार कुल 6 मैच खेले जिसमे उन्होंने सिर्फ 58 रन बनाए, इस दौरान वह 98.30 की इकॉनमी से बल्लेबाजी किए, केदार जाधव का खराब प्रदर्शन चेन्नई को कई बार भारी पड़ा।

कोलकाता के खिलाफ मुकाबले में केदार जाधव की धीमी बल्लेबाजी की वजह से ही चेन्नई को हर झेलनी पड़ी थी, इस मैच में केदार जाधव 12 गेंद पर सिर्फ 7 रन बनाए थे। केदार जाधव के प्रदर्शन को देखते हुए ऐसा लगता है भारतीय टीम अब शायद उनपर भरोसा जाताना नहीं चाहेगी। वही दूसरी तरफ शानदार फ़ॉर्म में चल रहें तेवतिया भारतीय चयनकर्ताओ को प्रभवित कर सकते है।