rahul dravid walks jpg 710x400xt 1

भारतीय क्रिकेट में द वाल के रूप में जाने जाने वाले राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने हमेशा ही टीम को जीत दिलाने का कार्य किया है. वो ऐसे बल्लेबाज थे जो अगर विकेट पर टिक गए तो टिक गए. बड़े  से बड़े गेंदबाज को उनका विकेट लेने में पसीने छूट जाते थे. उनके क्रीज पर आते ही विकेटों का गिरना रुक जाता था.

टीम के लिए हर एक भूमिका निभाने को तैयार Rahul Dravid से 2003 में जब कप्तान सौरव गांगुली ने कीपिंग करने के लिए कहा तो सहर्ष ही स्वीकार कर लिया. इस काम को भी उन्होंने इतनी बखूबी से निभाया कि सिर्फ धोनी ही उनसे आगे निकल सके. लेकिन, आपको पता है कि बैट और ग्लब्स से प्रदर्शन करने वाले द्रविड़ ने एक बार टीम को गेंदबाजी से भी जीत दिलाई थी.

राहुल द्रविड़ ने किए हैं 51 ओवर

फ्द्रविद

भारतीय टीम के द वाल Rahul Dravid ने टेस्ट और वनडे के साथ ही टी20 मिलकर कुल 509 मैच खेले हैं. इन मैचों में उनके नाम 24 हजार से ज्यादा रन दर्ज हैं. लेकिन, आज हम आपको बताएंगे कि इन मैचों में 420 शिकार कर चुके द्रविड़ ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में 51 ओवर भी किए हैं. जिसमें उन्होंने कुल पांच विकेट लिए हैं.

बात 2000 की है जब कोच्चि में दक्षिण अफ्रीका और भारत की टीमें भिड़ी थीं. यह पांच मैचों की सीरीज का पहला मैच था. जिसमें दक्षिण अफ्रीका के गैरी कर्स्टन (115) और हर्षल गिब्स (111) ने मिलकर पहले विकेट के लिए 235 रनों की साझेदारी कर ली थी. इन दोनों की पारी की मदद से अफ्रीका ने 50 ओवर में 301 रन बनाए थे.

Rahul Dravid ने 6 गेंदों में ही लिए थे 2  विकेट

Rahul Dravid

इस मैच के 42 वें ओवर तक दक्षिण अफ्रीका की टीम ने मैच में पकड़ बनाए हुए रखी थी. लेकिन, तभी कप्तान सौरव गांगुली ने 43वें ओवर के लिए Rahul Dravid के हाथों में गेंद दे दी. इस ओवर की दूसरी गेंद पर ही उन्होंने खतरनाक बैटिंग कर रहे गैरी कर्स्टन को पवेलियन पहुंचा दिया.

इसके बाद वो रुके नहीं और इसी ओवर की छठी गेंद पर उन्होंने लांस क्लूजनर को भी आउट कर दिया. एक समय बड़े स्कोर की ओर बढ़ रही अफ़्रीकी टीम इस लगातार दो विकेट गिरने के कारण ज्यादा रन नहीं बना सकी. इस मैच में द्रविड़ ने 9 ओवर फेंके थे जिसमें उनके नाम 42 रन देकर 2 विकेट लिए थे.