Rahul Dravid Greg Chappell
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

अब जबकि भारत का श्रीलंका दौरा खत्म हो गया, तो एक बार फिर Rahul Dravid के मुख्य कोच बनने की चर्चा शुरु हो गई है। हालांकि सीरीज के खत्म होने के बाद द्रविड़ ने कोचिंग के बारे में पूछे जाने पर कहा है कि उन्होंने श्रीलंका में कोचिंग के दौरान और कुछ भी नहीं सोचा। वह जो कर रहे हैं, उससे खुश हैं।

इस दौरे पर भारत को एकदिवसीय सीरीज में 2-1 से जीत मिली, तो वहीं T20I सीरीज में 1-2 से हार का सामना करना पड़ा। इस दौरे में आई सभी मुश्किलों का राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) की कोचिंग वाली युवाओं की टीम ने डटकर सामना किया।

इस वक्त क्रिकेट गलियारों में चर्चा चल रही है कि क्या अभी भी द्रविड़ को रवि शास्त्री के कार्यकाल के खत्म होने के बाद भारत का मुख्य कोच बनाया जा सकता है? तो आइए इस आर्टिकल में आपको वह 3 कारण बताते हैं, जिसके चलते द्रविड़ को भारत का पूर्ण कालिक मुख्य कोच बनाया जा सकता है।

       Rahul Dravid को बनाया जाना चाहिए भारत का कोच

1- प्रयोग करने से नहीं डरते द्रविड़

rahul dravid ishan ishan

एक्सपेरिमेंट, ये वह गुण है, जो किसी भी कोच व कप्तान को खास बनाता है। श्रीलंका दौरे पर भारत ने भरपूर मात्रा में एक्सपेरिमेंट किए, लेकिन सही समय पर। जब भारत एकदिवसीय सीरीज में 2-0 से आगे हो गया, तब Rahul Dravid ने एक साथ 5 युवाओं को डेब्यू करने का मौका दिया।

भले ही उस मैच में भारत को हार मिली, लेकिन सीरीज भारत के नाम ही रही। इसलिए कोच को ये समझना जरुरी है कि एक्सपेरिमेंट कब करना चाहिए। इसके अलावा द्रविड़ के पास अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का भरपूर अनुभव है, जिससे वह टीम के खिलाड़ियों को हर परिस्थितियों के लिए तैयार कर सकते हैं। इसलिए रवि शास्त्री के कॉन्ट्रैक्ट के खत्म होने के बाद द्रविड़ कोच पद के प्रबल दावेदार होंगे।

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse