rahul dravid ms dhoni 1591769987

17 अक्टूबर से टी20 क्रिकेट विश्वकप यूएई में शुरू होने वाला। वैसे तो India को इस बार भी इस टूर्नामेंट का दावेदार माना जा रहा है। वैसे बता दें कि टी20 विश्वकप के बाद भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री का करार भी खत्म हो जाएगा। वैसे प्रबंधन काफी समय से टीम के कोच की तलाश भी शुरू हो गई है। इसी बीच टीम के पूर्व मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद का मानना है कि राहुल द्रविड़ ही इस पद को सम्भालें, राहुल भारतीय टीम के कोच बनने के लिए सबसे उपयुक्त व्यक्ति हैं। 

नहीं बढ़ाया जाएगा रवि शास्त्री का करार

ravi msk prasad

टी20 विश्व कप के बाद Team India के वर्तमान कोच रवि शास्त्री का भी करार खत्म हो जाएगा। साथ ही कुछ ऐसी भी रिपोर्ट्स आ रही हैं कि शास्त्री का करार अब और नहीं बढ़ाया जाएगा। इसलिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) राष्ट्रीय टीम के लिए किसी और को इस पद पर नियुक्त करने के लिए पूरी तरह तैयार है ऐसे में पूर्व मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने इस पद को संभालने के लिए राहुल द्रविड़ का नाम सुझाया है

 इस पूर्व चयनकर्ता ने टी20 विश्वकप के बाद भी धोनी को टीम के मार्गदर्शक की भूमिका में बने रहने की भी इच्छा जाहिर की है। प्रसाद ने कहा, “एक कोच के रूप में राहुल, मेंटॉर के रूप में धोनी की जोड़ी भारतीय क्रिकेट के लिए वरदान साबित होने वाली है. दोनों बेहद शांत हैं। एक व्यक्ति बहुत अध्ययनशील है तो दूसरा मेहनती। इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि अभी जितने खिलाड़ी सामने आ रहे हैं, उन्हें राहुल ने तैयार किया है, जो भारत ए के कोच भी थे।”

आईपीएल में कमेंट्री के दौरान की थी साथियों से बात : एमएसके प्रसाद

dhoni rahul dravid india

Indian क्रिकेट टीम के पूर्व चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने भारतीय टीम के कोच पद की भूमिका के लिए अपना दावा भी पेश कर दिया है। उन्होंने इस बारे में प्रसाद ने ‘स्पोर्ट्स तक’ से बातचीत करते हुए कहा, ” मेरे दिल में, मेरे मन में यही भावना थी मुझे हाल ही में मेरे सहयोगियों ने चुनौती दी थी कि निश्चित रूप से रवि भाई (रवि शास्त्री) के बाद, धोनी को एक मेंटॉर की भूमिका में आना होगा और राहुल द्रविड़ को एक कोच के रूप में

 जब मैं आईपीएल के दौरान कमेंट्री कर रहा था, तब मैंने अपने साथियों के साथ इस पर चर्चा भी की थी मुझे लग रहा था कि राहुल ही रवि भाई के बाद टीम इंडिया के लिए सबसे बेहतर रहेंगे।” उन्होंने यहां तक ​​कहा है कि द्रविड़-धोनी की जोड़ी राष्ट्रीय टीम के लिए वरदान साबित होगी.