rahul dravid and ravi shastri

पूर्व भारतीय दिग्गज खिलाड़ी राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को टीम इंडिया के मुख्य के रूप में श्रीलंका दौरे पर भेजा गया है। इस दौरे पर भारतीय टीम को 3-3 मैचों की वनडे व टी20आई सीरीज खेलनी है। जबसे द्रविड़ के मुख्य कोच के रूप में दौरे पर जाने की खबर सामने आई है, तभी से चर्चा चल रही है कि उन्हें रवि शास्त्री के कार्यकाल के खत्म होने के बाद भारतीय टीम के मुख्य कोच के रूप में नियुक्त किया जा सकता है। इसपर अब पूर्व भारतीय ऑलराउंडर रितिंदर सोड़ी ने प्रतिक्रिया दी है।

रवि शास्त्री की जगह ले सकते हैं Rahul Dravid

Rahul Dravid

भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) भारत की टीम ‘बी’ के साथ मुख्य कोच के रूप में श्रीलंका दौरे पर गए हैं। वहीं इंग्लैंड दौरे पर मौजूद रवि शास्त्री का कार्यकाल टी20 विश्व कप तक का है। अब ऐसे में माना जा रहा है कि द्रविड़ भारत की मुख्य टीम के कोच बन सकते हैं। पंजाब के नामी पूर्व ऑलराउंडर खिलाड़ी रितिंदर सोड़ी Rahul Dravid ने कहा,

“सबसे पहले, हमें यह स्वीकार करना होगा कि रवि शास्त्री ने कोच के रूप में बहुत अच्छा काम किया है और हां, उनका कॉन्ट्रैक्ट खत्म हो रहा है। लेकिन आइए इसके बारे में सोचें … एक अस्थायी व्यवस्था और वह भी राहुल द्रविड़? मुझे लगता है कि यह असंभव है। अगर वह मुख्य कोच के रूप में श्रीलंका जा रहे हैं, तो कहीं न कहीं यह स्पष्ट संकेत है कि वह लाइन में हैं। अगर कोई है जो कोच के रूप में रवि शास्त्री की जगह ले सकता है, तो वह व्यक्ति राहुल द्रविड़ हो सकते हैं।”

महान खिलाड़ी नहीं होते अस्थायी विकल्प

Rahul Dravid

Rahul Dravid एनएसीए प्रमुख के पद पर कार्यरत हैं। मगर वह श्रीलंका दौरे पर जा रहे हैं। हालांकि कुछ वक्त पहले द्रविड़ ने खुद कहा था कि वह टीम इंडिया मुख्य कोच नहीं बनना चाहते, बल्कि वह युवा खिलाड़ियों के साथ काम करना चाते हैं। अब सोढ़ी ने आगे कहा,

“मुझे यकीन है कि उनसे इसके बारे में पूछा गया होगा। अगर वह क्रिकेट के निदेशक या एनसीए प्रमुख बने रहना चाहते थे, तो वह आसानी से मना कर सकते थे। वह एक फैमिली मैन हैं, वह आसानी से बेंगलुरु में रह सकते थे। वह जा रहे हैं और चाहते हैं कि टीम अच्छा प्रदर्शन करे। मुझे लगता है कि अगर कोई रिप्लेसमेंट को देखा जाता है, तो द्रविड़ बहुत लाइन में होंगे। ऐसे महान खिलाड़ी कभी भी अस्थायी विकल्प नहीं हो सकता है।”