Cheteshwar Pujara

भारतीय क्रिकेट टीम के टेस्ट स्पेसलिस्ट बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भारत को टेस्ट सीरीज में जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। जिसके बाद से चारों तरफ इस बल्लेबाज की तारीफ हो रही है। मगर इस बीच पुजारा ने इस बात का खुलासा किया है कि वह अभी भी सीमित ओवर क्रिकेट खेलना चाहते हैं। हालांकि अब उनका लिमिटेड ओवर में वापसी करने की उम्मीद कम ही है।

सीमित ओवर क्रिकेट खेलना चाहते हैं पुजारा

चेतेश्वर पुजारा
pic credit : getty images

चेतेश्वर पुजारा ने भारत के लिए 5 मैच खेले हैं और वह इस दौरान सिर्फ 51 रन ही बना सके। पुजारा 2014 से सीमित ओवर क्रिकेट से बाहर हैं, मगर एक लंबा वक्त बीत जाने के बाद अभी भी दिग्गज टेस्ट बल्लेबाज सीमित ओवर क्रिकेट खेलना चाहता है। पुजारा ने स्पोर्ट्स टुडे से बात करते हुए पुजारा ने कहा,

“मुझे अब भी टीम इंडिया के लिए सफेद गेंद से खेलने की आकांक्षा है, इसमें कोई संदेह नहीं है। हां, उसी समय यह मुश्किल हो जाता है जब दूसरे लोग कुछ मैच अभ्यास कर रहे होते है। लॉकडाउन के बाद ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले मेरे पास कोई अभ्यास मैच नहीं था। इसलिए उस बड़ी सीरीज की तैयारी के लिए यह थोड़ा मुश्किल हो गया। अन्यथा अगर कोरोना नहीं होता तो कुछ प्रथम श्रेणी मैच मैंने खेले होते।”

कोरोना वायरस के कारण नहीं खेल सका फर्स्ट क्लास मैच

चेतेश्वर पुजारा 2018-19 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज में प्लेयर ऑफ द सीरीज रहे थे। उन्होंने पिछली बार टेस्ट सीरीज में 74.43 के औसत से 521 रन बनाए थे। मगर इस बार पुजारा 271 रन ही बना पाए। हालांकि इस बात में कोई दोराय नहीं है कि उन्होंने मैदान पर लंबा वक्त गुजारा और अपनी काबिलियत साबित की। उन्होंने आगे कहा,

“कोरोना वायरस लॉकडाउन के कारण बहुत ज्यादा प्रथम श्रेणी मैच नहीं थे, जो मैं खेल सकता था। मैंने केवल एक मैच (वार्म-अप मैच) खेला, इससे पहले कि टेस्ट सीरीज शुरू हो, एक बल्लेबाज के रूप में लय, एकाग्रता हासिल करना मुश्किल था। मेरे लिए यह मुश्किल था, लेकिन जैसा कि मैंने कुछ और मैच खेले तो मुझे सही तरीके से (ऑस्ट्रेलिया में बल्लेबाजी करने के लिए) टेस्ट मैचों में खेलने के लिए लय मिली।”

मुश्किल है सीमित ओवर क्रिकेट में वापसी

चेतेश्वर पुजारा
image by : bcci.tv

भारत के अनुभवी टेस्ट बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा बतौर नंबर-3 टेस्ट टीम का मुख्य हिस्सा हैं। वह लगातार टेस्ट में अच्छा कर रहे हैं। मगर उनका सीमित ओवर क्रिकेट में वापस आना अब मुश्किल ही नहीं नामुमकिन लगता है। भारत के लिए सिर्फ 5 वनडे मैच खेलते हुए पुजारा 51 रन ही बना सके थे। आखिरी मैच उन्होंने 2014 में खेला था,वहीं टी20 क्रिकेट में तो उन्हें डेब्यू का भी मौका नहीं मिला है।

अब मौजूदा टीम में देखें तो, मध्य क्रम में श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत, मनीष पांडे,हार्दिक पांड्या, संजू सैमसन, केएल राहुल जैसे विस्फोटक बल्लेबाजों के विकल्प मौजूद हैं। ऐसे में पुजारा का वनडे टीम में लौटने के आसार नजर नहीं आते हैं।