lhGlTeE1

घरेलू क्रिकेट में जब पृथ्वी शॉ को शानदार प्रदर्शन करते हुए देखा गया तो उस समय क्रिकेट जगत में उन्हें सचिन तेंदुलकर और वीरेन्द्र सहवाग का मिश्रण कहा जाने लगा. लेकिन पिछले कुछ समय से पृथ्वी शॉ के बल्ले से रन नहीं निकल रहे हैं. जिससे उनका इंटरनेशनल करियर अब खतरे में पड़ गया है.

पृथ्वी शॉ का करियर पड़ा ख़तरे में

EphCKE0UUAAtWaG

अंडर-19 विश्व कप 2018 में भारतीय टीम ने पृथ्वी शॉ के कप्तानी में जब अंडर-19 विश्व कप जीता तो उस समय उन्हें भविष्य का सुपरस्टार कहा जाने लगा. जिसके बाद ही कप्तान शॉ को भारतीय टीम में मौका मिल गया. जहाँ पर वेस्टइंडीज के खिलाफ शतक लगा कर उन्होंने अपने टेस्ट करियर का आगाज किया.

लेकिन 2018 में जब वो ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गये तो चोट के कारण उन्हें खेलने का मौका नहीं मिल पाया. अब उन्हें मौका मिल रहा है लेकिन वो उसका फायदा नहीं उठा पा रहे हैं. पिंक बॉल टेस्ट मैच की दोनों पारियां खेलने के बाद उन्होंने मात्र 4 रन ही बनाये हैं. जिससे उनका स्थान अब भारतीय टीम में खतरे में पड़ गया है.

इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी होगी मुश्किल

PrithviShaw

अगर अभी पृथ्वी शॉ की उम्र देखें तो वो मात्र 21 वर्ष के ही हैं. लेकिन एक ही जगह के लिए कई दावेदार होने के कारण टीम से बाहर के बाद वापसी करना उनके लिए बहुत ज्यादा मुश्किल होने वाला है. जिसकी एक वजह उनके साथी खिलाड़ी शुभमन गिल भी हैं.

जो बहुत ही लंबे समय से अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं. यदि वो मौके का फायदा उठा कर बड़ा स्कोर बनाने में सफल हो जाते हैं तो फिर पृथ्वी शॉ की राहें मुश्किल हो जाएगी. वहीँ मयंक अग्रवाल का साथ देने के लिए जल्द ही रोहित शर्मा नजर आयेंगे. जिसके बाद शॉ का खेलना नामुमकिन ही नजर आता है.

घरेलू क्रिकेट ही है पृथ्वी शॉ की बची हुई आस

shaw

अगर अब भारतीय टीम से पृथ्वी शॉ बाहर हो जाते हैं तो उन्हें फ़ौरन भारत आकर मुंबई के लिए घरेलू क्रिकेट खेलना होगा. जहाँ पर वो दोबारा मुंबई के लिए अच्छा प्रदर्शन करके अपना आत्मविश्वास वापस पा सकते हैं. 10 जनवरी से सैयद मुश्ताक अली टी20 टूर्नामेंट का आगाज हो रहा है. जहाँ पर शॉ जरुर खेलना चाहेंगे.