पृथ्वी शॉ-शतक

टीम इंडिया के युवा खिलाड़ी पृथ्वी शॉ इन दिनों विजय हजारे ट्रॉफी में अपने बल्ले का कमाल दिखाकर सोशल मीडिया पर भी जमकर चर्चा बटोर रहे हैं. 25 फरवरी को उन्होंने इसी टूर्नामेंट में दोहरा शतक जड़ने के साथ ही अपने नाम एक बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली है. मुंबई की तरफ से खेलते हुए पुड्डुचेरी के खिलाफ शॉ ने महज 152 गेंदों पर 227 रन की नाबाद पारी खेली है.

फॉर्म में लौटे पृथ्वी शॉ

पृथ्वी शॉ

दोहरा शतक जड़ने के दौरान शॉ के बल्ले से 31 चौके और 5 छक्के निकले. लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फ्लॉप रहने के बाद किस तरह से दोबारा से वो अपनी फॉर्म में लौटे हैं इसके पीछे भी बड़ी वजह है. जिसका खुलासा हाल ही में हुआ है. दरअसल ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर 4 टेस्ट मैचों की सीरीज में टीम मैनेजमेंट ने उन्हें भारतीय टीम का हिस्सा बनाया था.

हालांकि एडिलेड में खेले गए पहले टेस्ट मुकाबले में पृथ्वी शॉ दोनों ही पारी में फेल रहे थे. विजय हजारे ट्रॉफी 2021 से पहले शॉ उस फॉर्म में नहीं लौट पा रहे थे, जिसमें उन्हें टीम इंडिया देखना चाहती थी. यहां तक कि आईपीएल 2020 में और सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में भी उनका बल्ला पूरी तरह से शांत रहा था. लेकिन अब दोहरा शतक जड़कर हंगामा मचा दिया.

ग्रेग चैपल ने की पृथ्वी शॉ मदद

पृथ्वी शॉ-विजय हजारे

लेकिन उनकी बल्लेबाजी में मदद करने का अहम योगदान, भारत के पूर्व कोच ग्रेग चैपल, प्रवीण आमरे और दिल्ली कैपिटल्स ने निभाई है. दरअसल टाइम्स ऑफ इंडिया के हवाले से आई एक रिपोर्ट की माने तो, शॉ के एक सूत्र के हवाले से बताया है कि,

“ग्रेग चैपल ने शॉ को अपने तकनीकी विषयों को ठीक करने के लिए कुछ समाधान बताए हैं, वो भी ऐसे दौर में जब वो खराब प्रदर्शन का सामना कर रहे थे. इन सुझावों पर वो काम कर रहे हैं, और क्रीज पर ज्यादा अच्छे से खेल रहे हैं.”

दिल्ली कैपिटल्स ने की पृथ्वी शॉ की मदद- प्रवीण आमरे

पृथ्वी शॉ

फिलहाल दिल्ली कैपिटल्स के सहायक कोच प्रवीण आमरे ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि,

‘यह जानते हुए कि वो टीम इंडिया से बाहर हो गए हैं, तो उनका आत्मविश्वास कम होगा. यही कारण है कि शॉ की आईपीएल टीम दिल्ली कैपिटल्स ने इस दौर में उनकी मदद करने का निर्णय लिया. हमारे पास उनकी बल्लेबाजी में सुधार करने का सिर्फ कुछ ही समय था, क्योंकि उन्हें इस टूर्नामेंट के लिए बायो बबल में जाना था. हमें पता था कि वो मानसिक तौर से काफी दुखी हैं और उन्हें हमारी जरूरत है’.

आगे बात करते हुए उन्होंने कहा कि,

‘हमने 5 दिन पृथ्वी शॉ के साथ काम किया, और दिल्ली कैपिटल्स की तरफ से सारी सुविधाएं मिलीं. मैंने उन्हें उनकी स्किल्स के तौर पर कोचिंग दी. स्ट्रेंथ एंड कंडीशनिंग कोच रजनीकांत शिवागन्नम ने उनकी फिटनेस पर भी काम किया. मैंने उनके साथ शिवाजी पार्क जिमखाना के नेट्स में काम किया. 2 घंटे रजनीकांत उनकी फिटनेस पर ध्यान देते थे, और वो नेट्स पर अभ्यास करते थे.’