अक्षर पटेल

भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए तीसरे टेस्ट मैच को भारत ने 10 विकेट से जीतकर अपने नाम कर लिया है। टीम इंडिया के लिए मैच जिताऊ गेंदबाजी करने वाले अक्षर पटेल को मैन ऑफ द मैच के खिताब से नवाजा गया। अक्षर ने इस खिताब को जीतने के बाद अपनी इस सफल गेंदबाजी के राज से पर्दा उठाया और खुलासा किया कि उनकी सबसे बड़ी ताकत क्या है।

अक्षर पटेल बने मैन ऑफ द मैच

अक्षर पटेल

भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए पिंक बॉल टेस्ट मैच को भारतीय टीम ने 10 विकेट से जीतकर अपने नाम कर लिया है। इस मैच पर पूरी तरह से भारतीय स्पिनर्स का कब्जा रहा। खासकर, बारत के लेफ्ट आर्म स्पिनर अक्षर पटेल का।

स्पिनर ने इस मैच की पहली पारी में 6 विकेट चटकाए और दूसरी पारी में 5 विकेट अपने नाम किए। हालांकि वह बल्ले के साथ कुछ खास योगदान नहीं दे सके लेकिन अपनी स्पिन गेंदबाजी से उन्होंने इंग्लैंड के बल्लेबाजों के तोते उड़ा दिए। शानदार गेंदबाजी के लिए अक्षर पटेल को मैन ऑफ द मैच के खिताब से नवाजा गया।

विकेट  टू विकेट गेंदबाजी करना है ताकत

भारत के स्टार ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा के रूल्ड आउट होने के चलते अक्षर पटेल को भारतीय टीम में शामिल किया गया। अक्षर मैच दर मैच टीम मैनेजमेंट के फैसले को सही साबित कर रहे हैं। अब तक दो टेस्ट मैचों में अक्षर 19 विकेट चटका चुके हैं। पिंक बॉल टेस्ट में मैन ऑफ द मैच खिताब जीतने के बाद अक्षर पटेल ने खुलासा किया कि आखिर उनकी गेंदबाजी का राज क्या है। उन्होंने बताया,

“जब ऐसा होता है, तो यह इतना आसान लगता है। मैं ज्यादा नहीं सोच रहा हूं। मैं इस फॉर्म को जारी रखना चाहता हूं। मुझे खुशी है कि अगर मैं बल्ले से योगदान नहीं दे रहा हूं, तो मैं गेंद से योगदान दे रहा हूं। मेरी ताकत विकेट-टू-विकेट गेंदबाजी करना है और बल्लेबाजों को रूम नहीं देना है। बल्लेबाजों की मानसिकता है या तो वह कुछ मेडेन खेलें और या तो फिर स्वीप के लिए जाते हैं या फिर इनफील्ड खेलने की कोशिश करते हैं।”

वसीम भाई क्यों बोलते हैं?

अक्षर पटेल

अक्षर पटेल को उनके साथी खिलाड़ी वसीम नाम से पुकारते हैं। मैच खत्म होने के बाद अक्षर ने इसके पीछे का कारण बताते हुए खुलासा किया कि,

“वे मुझे वसीम भाई (वसीम अकरम) कहते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि मेरी आर्म बॉल बहुत घातक है। अज्जू भाई (अजिंक्य रहाणे) ने मुझे बुलाया और पंत ने उसे उठाया। मैं चाहूंगा कि यह विकेट अंतिम टेस्ट के लिए समान रहे और साथ ही मैं विकेट भी ले रहा हूं।”