5d450cf328423

भारत का पड़ोसी देश पाकिस्तान क्रिकेट में भारतीय क्रिकेट टीम का सबसे बड़ा प्रतिद्वंदी माना जाता है, लेकिन दोनों देशों के बीच सीमा पर तनावपूर्ण स्थिति की वजह से पिछले 8 सालों में दोनों टीमों के बीच अब तक एक भी द्विपक्षीय श्रृंखला नहीं हुई।

इसी बीच अब भारतीय क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई को अगले साल अक्टूबर में टी20 विश्व कप की मेजबानी करना है। जिसके बाद अब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की चिंता बढ़ गई है कि क्या बीसीसीआई उनके खिलाड़ियों को आगामी टी-20 वर्ल्ड कप खेलने के लिए वीजा देगा या नहीं।

पाकिस्तान बोर्ड ने आईसीसी से मांगा आश्वासन

Wasim Khan pcb

इसी वजह से पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने आईसीसी से आश्वासन मांगा की आगामी टी-20 विश्व कप का प्रतिनिधित्व करने के लिए आईसीसी को बीसीसीआई से बात करना चाहिए और पाकिस्तान के सहायक कर्मचारियों और उनके खिलाड़ियों के वीजा प्रक्रिया का निपटारा करना चाहिए।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के कार्यकारी अधिकारी वसीम खान ने पीटीआई से बातचीत के दौरान कहा कि यह आईसीसी का मामला है और हमने आईसीसी से अपनी चिंताओं पर चर्चा की है मेजबान देश को t20 विश्व कप में भाग लेने वाली टीमों के लिए वीजा और आवास उपलब्ध कराना होगा।

आईसीसी से मांगी समय सीमा

Wasim Khan

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के कार्यकारी अधिकारी ने दिसंबर-जनवरी तक की समय सीमा मांगी, जिसमें उनका कहना है कि दिसंबर-जनवरी तक हमारे खिलाड़ियों को वीजा मुहैया करवा देना चाहिए, और अगर वीजा नहीं मिलता है तो किसी अन्य देश की तरह हम भी उम्मीद करेंगे कि आईसीसी इसके हल के लिए बीसीसीआई के माध्यम से भारत सरकार से संपर्क करेगा। क्योंकि इसके लिए जरूरी निर्देश और पुष्टि उनकी सरकार से मिलेगी।

पाकिस्तान के शूटरों को नहीं मिल पाया था वीजा

5d450cf328423
अगर पाकिस्तान के कार्यकारी अधिकारी वसीम खान इतने परेशान होने की वजह जाने तो इसकी वजह यह है कि पिछले साल भारत में आयोजित हुए एक वैश्विक कार्यक्रम में पाकिस्तान के एथलीटों को वीजा नहीं मिल पाया था। उनकी चिंता है की कही खिलाड़ियों के साथ ऐसा नहीं हो जाए।

इसी क्रम में पिछले दिनों पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वसीम खान ने कहा था कि दोनों देशों के बीच मौजूदा रवैया को देखते हुए ऐसा लगता है कि आने वाले लंबे समय में इन दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सीरीज संभव नहीं है।