Ness Wadia

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) विश्व भर में सबसे लोकप्रिय और सबसे बड़ी क्रिकेट लीग है. ये बात मै नहीं बोल रहा हूँ जबकि विश्व क्रिकेट के बड़े-बड़े दिग्गज, इस बात को स्वीकार चुके है. इस लीग में खिलाड़ियों पर जमकर पैसा बरसता है और दुनियाभर के खिलाड़ी इसमें खेलने के लिए अपनी नेशनल टीम की ड्यूटी छोड़ते हुए देखे जा चुके है. पंजाब किंग्स (PBKS) फ्रेंचाईज के सह-मालिक नेस वाडिया (Ness Wadia) ने इस मेगा इवेंट को और अधिक लोकप्रिय बनाने के लिए एक बेहतरीन सुझाव दिया है.

ऑफ सीजन में तीन से पांच मैच का आयोजन किया जा सकता है: नेस वाडिया

IPL

वैसे तो इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की अब किसी पहचान की मोहताज नहीं रही. लेकिन अब पंजाब किंग्स (PBKS) फ्रेंचाईज के सह-मालिक नेस वाडिया (Ness Wadia) ने इसको लेकर एक ऐसा सुझाव दिया है, जिसको अगर मान लिया जाए तो इस मेगा इवेंट की लोकप्रियता में अच्छी खासी बढ़ोतरी बढ़ जायेगी. उनके मुताबिक अब समय आ गया है कि बीसीसीआई को आईपीएल (IPL) टीमों को ऑफ सीजन में विदेशों में खेलने की परमिशन दे देनी चाहिए. न्यू इंडियन एक्सप्रेस’ से बात करते हुए वाडिया ने कहा,

बीसीसीआई को ऑफ सीजन में उन स्थानों पर मैच आयोजित करने पर विचार करना चाहिए, जहां अधिक भारतीय प्रवासी हैं. इससे आईपीएल को आगे बढ़ाने में ही मदद मिलेगी. खिलाड़ियों की उपलब्धता को देखते हुए ऑफ सीजन में तीन से पांच मैच का आयोजन किया जा सकता है.

मुझे खुशी है कि आखिरकार ऐसा हुआ है: नेस वाडिया

IPL

वाडिया ने बातचीत में आगे बताया,

हर साल टॉप चार फ्रेंचाइजी टीम को मियामी या टोरंटो या सिंगापुर में कुछ मैच खेलने की परमिशन मिलनी चाहिए. इससे इस ब्रांड को ही मजबूती मिलेगी. यह एक अच्छा इन्वेस्टमेंट है. लीग वास्तव में इसकी हकदार है. ये एक अच्छा बिजनेस है, जिनके बारे में हम बात कर रहे हैं. हमें उस मुकाम तक पहुंचने में 14 साल लगे हैं, जहां लीग होना चाहिए थी. मुझे खुशी है कि आखिरकार ऐसा हुआ है.

आईपीएल 2022 में दिखेंगी 10 टीमें

IPL 2022

आपको बता दूँ कि, आईपीएल 2022 (IPL 2022) से पहले नीलामी के जरिए अगले सीजन के लिए 2 नयी टीम को शामिल किया गया हैं.  इन टीम की बोली 1.5 अरब डॉलर में लगी और इसमें विदेशी कंपनियों ने भी दिलचस्पी दिखाई थी.आईपीएल (IPL) में अब अगले सीजन से 8 की जगह 10 टीमें खेलती नजर आएंगी।

बीसीसीआई (BCCI) ने जिन दो नई टीमों को शामिल किया है, उसमें लखनऊ (Lucknow) फ्रेंचाइजी और अहमदाबाद (Ahamdabad) फ्रेंचाइजी का नाम शामिल है। संजीव गोयनका की मालिकाना हक वाली आरपीएसजी (RPSG) ग्रुप ने 7090 करोड़ रुपये की बोली लगाकर लखनऊ फ्रैंचाइजी हासिल की, जबकि सीवीसी कैपिटल (CVC Capitals) ने अहमदाबाद फ्रैंचाइजी को पाने के लिए 5625 करोड़ रुपये की सफल बोली लगाई.