शोएब अख्तर

बेन स्टोक्स की कप्तानी वाली युवा खिलाड़ियों से सजी इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने पहले एकदिवसीय मैच में पाकिस्तान क्रिकेट टीम (Pakistan) को 9 विकेटों से हराकर एक बड़ी जीत अपने नाम की। पाकिस्तान की इस हार के बाद चारों तरफ टीम की काफी आलोचना हो रही है। इस बीच पूर्व पाकिस्तानी तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने भी टीम के खेल पर सवाल उठाए और उन्होंने तो यहां तक कह दिया कि पाकिस्तान की टीम में अब पहले जैसे खिलाड़ी नहीं हैं।

9 विकेट से पहला वनडे हारा पाकिस्तान

pakistan

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के हाथों पहले वनडे मुकाबले में बाबर आजम की कप्तानी वाली पाकिस्तान की टीम को वनडे सीरीज के पहले मैच में 9 विकेटों से हार का सामना करना पड़ा। ये हार सभी को इसलिए ज्यादा खल रही है, क्योंकि ये इंग्लैंड की मजबूत टीम नहीं बल्कि कामचलाऊ टीम थी। असल में एक साल 7 सदस्यों के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद ईसीबी ने नए सिरे से इस सीरीज के लिए टीम तैयार की और इस टैम्प्रेरी टीम ने भी पाकिस्तान के चारों खाने चित्त कर दिए।

इस मैच में बेन स्टोक्स ने टॉस जीतकर फील्डिंग का फैसला किया था। जिसके बाद इंग्लैंड की शानदार गेंदबाजी के सामने Pakistan का एक भी बल्लेबाज अर्धशतक तक नहीं पहुंच सका और पूरी टीम 141 के स्कोर पर सिमट गई। जवाब में इंग्लैंड ने डेविड मलान व जैक क्रॉली की अर्धशतकीय पारियों की मदद से सिर्फ 1 विकेट के नुकसान पर लक्ष्य को हासिल कर लिया और 9 विकेटों से जीत अपने नाम की। अब अगला मुकाबला 10 जुलाई को लॉर्ड्स में खेला जाएगा।

Pakistan टीम में अब पहले जैसे टैलेंटेड खिलाड़ी नहीं

इंग्लैंड की टैम्प्रेरी टीम के हाथों मिली 9 विकेटों से हार के बाद शोएब अख्तर काफी नाराज नजर आए। उन्होंने कहा कि अब पाकिस्तान टीम की हालत ऐसी हो गई है कि अगर बाबर आजम व फखर जमां नहीं चलेंगे, तो टीम 150 के स्कोर तक भी नहीं पहुंच सकेगी। उन्होंने कहा,

पाकिस्तान की टीम में पहले जैसा टेलैंट और खिलाड़ी नहीं रहे। बाबर आजम अच्छा खिलाड़ी है लेकिन जल्द ही उसे फिनिशर की भूमिका निभानी होगी। पाकिस्तान टीम की हालत यह हो गई है अगर बाबर और फखर जमां नहीं चलेंगे तो टीम 150 रन भी नहीं बना पाएगी।”

बोर्ड की गलती भुगत रही पाकिस्तानी टीम

Pakistan

शोएब अख्तर का मानना है कि पाकिस्तान टीम जिस स्थिति में है, उसकी वजह पीसीबी की गलत पॉलिसीज हैं। हालांकि ये पहला मौका नहीं है जब अख्तर Pakistan बोर्ड की आलोचना कर रहे हो, बल्कि वह पहले भी ऐसा कर चुके हैं। अख्तर ने कहा,

“पाकिस्तान टीम की ये हालत बोर्ड की गलत पॉलिसी और चयन के कारण है। पाकिस्तानी टीम में कोई ऐसा प्लेयर नहीं जिसे आप पैसे देकर देखना चाहेंगे। लोग अब पाकिस्तान का मैच देखना बंद कर रहे हैं।”