imran khan2

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और वर्तमान प्रधानमंत्री इमरान खान आज अपना 68वां जन्मदिन मना रहे हैं. 5 अक्टूबर 1952 को लाहौर में जन्में इमरान खान को दुनिया उन्हें उनके खेल के लिए जानती है. पाकिस्तान को आईसीसी वर्ल्ड कप जिताने के साथ-साथ इमरान के नाम क्रिकेट जगत में कई बड़े रिकॉर्ड दर्ज हैं. ये पाकिस्तान के एक मात्र ऐसे खिलाड़ी है जिसने कभी भी वाइड बॉल नहीं फेंकी.

इमरान खान ने पाकिस्तान के लिए इतने मुकाबले खेले और कभी नहीं डाली वाइड बॉल

imran khan 1407942825

पाकिस्तान टीम के पूर्व कप्तान इमरान खान ने पाकिस्तान टीम के लिए 88 टेस्ट मैच और 175 वनडे मैच खेलने वाले इस खिलाड़ी ने अपने क्रिकेट करियर में कभी भी वाइड बॉल नहीं फेंकी है. इमरान खान को साल 1982 में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान बनने का मौका मिला था.

इसके बाद वो पकिस्तान टीम के एक मात्र कप्तान थे जिसने भारत को भारत में हराया था और ऐसा करने वाले वो पकिस्तान के पहले कप्तान बने थे. इमरान खान की कप्तानी में ही 1992 में पाकिस्तान ने अपना इकलौता वनडे विश्व कप ख़िताब जीता था.

उन्होंने टेस्ट में 37.69 की औसत से 3807 रन बनाए, साथ ही वनडे में 33.41 की औसत से 3709 रन बनाए और इस फॉर्मेट में उनके नाम 182 विकेट भी शामिल है. उन्हें अपनी टीम में एक अच्छे बल्लेबाज के साथ-साथ एक अच्छा गेंदबाज भी माना जाता था.

वर्ल्ड कप फाइनल जीतने के बाद लिया था संन्यास

1561879169 imran khan 2

1992 वर्ल्ड कप में इमरान खान ने गेंद और बल्ले से जोरदार प्रदर्शन किया. पाकिस्तान की बल्लेबाजी कमजोर होने के चलते उन्होंने ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी की और 8 मैचों में 185 रन बनाए. इसके अलावा उन्होंने 7 विकेट भी लिए थे.

उन्होंने इस वर्ल्ड में अपनी अहम भूमिका निभाई थी. जैसे ही 1992 में पकिस्तान की टीम ने वर्ल्ड कप अपने नाम किया. उसके बाद ही इमरान खान ने इंटरनेशनल क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया था. जो उनकी टीम के लिए बड़ा झटका था.

इमरान खान को क्रिकेट का लंबा अनुभव था. उनके कप्तान रहते पकिस्तान की टीम ने वर्ल्ड कप के अलावा भी कई बड़ी उपलब्धियां अपना नाम की थी. उन्होंने कई युवा खिलाड़ियों को आगे आने के लिए और पकिस्तान की टीम के भविष्य के क्रिकेटर बनने के लिए काफी प्रोत्साहित किया था.

इमरान खान ने वर्ल्ड कप जीतने के बाद दिया विवादित भाषण

imran khan

1982 में पाकिस्तान के कप्तान बनने के बाद उन्होंने अपनी टीम के साथ मिलकर काफी मेहनत की थी. साल 1992 में पकिस्तान को टीम को वर्ल्ड कप जिताया था. ऐसा करने वाले वो पाकिस्तान टीम के एक मात्र कप्तान थे. इस वर्ल्ड कप जीतने के बाद इमरान खान जो भाषण दिया वो काफी विवादों में रहा. दरअसल इमरान खान ने वर्ल्ड कप जीत के बाद अपनी टीम के खिलाड़ियों का ना शुक्रिया अदा किया और ना ही उनका कहीं नाम लिया .