IPL 2021

दुनिया की सबसे अमीर फ्रेंचाइजी लीग आईपीएल में ना केवल भारतीय बल्कि विदेशी खिलाड़ी भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं। क्रिकेट के महासंग्राम यानि आईपीएल के सीजन के शुरु होने से पहले ऑक्शन में लगती है खिलाड़ियों पर बोली। जहां, फ्रेंचाइजियों को खरीदने के लिए आपस में भिड़ती नजर आती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इतिहास में एक ऐसा खिलाड़ी भी रहा है, जिसपर सभी फ्रेंचाइजियों ने बोली लगाई थी।

2007 में भारत को जिताया था टी20 विश्व कप

आईपीएल

2004 में भारतीय क्रिकेट में कदम रखने वाले विकेटकीपर-बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी ने 2005 में श्रीलंका के खिलाफ 145 गेंदों पर ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए नाबाद 183 रनों की पारी खेलकर बतौर खिलाड़ी तो पहचान बना ली थी। लेकिन उन्हें एक कप्तान के रूप में सही पहचान मिली 2007 के टी20 विश्व कप में।

जब साउथ अफ्रीका में खेले गए टी20 विश्व कप में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम ने फाइनल मुकाबले में पाकिस्तान को 5 रनों से हराकर एक बेहद शानदार जीत अपने नाम की थी। इस जीत के बाद तो फिर धोनी ने बतौर कप्तान कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और टीम इंडिया के लिए एक के बाद एक नई उपलब्धियां हासिल करते रहे।

सभी फ्रेंचाइजियों ने लगाई जमकर बोली

2008 में बीसीसीआई ने घरेलू टी20 लीग आईपीएल का आगाज किया। पहले सीजन में सभी फ्रेंचाइजी अपने-अपने-अपने राज्य के मार्की प्लेयर्स को खरीदने के उद्देश्य के साथ ऑक्शन में उतरी थीं। वहीं महेंद्र सिंह धोनी झारखंड़ से थे और झारखंड की कोई फ्रेंचाइजी नहीं थी।

मगर फिर ऑक्शन में जो हुआ, वह इतिहास बन गया। जी हां, आईपीएल 2008 के ऑक्शन में आठ फ्रेंचाइजियों ने हिस्सा लिया था, जिसमें सभी फ्रेंचाइजियों ने धोनी को खरीदने के लिए बोली लगाई थी। हालांकि आखिर में चेन्नई सुपर किंग्स ने एमएस को खरीदकर अपनी टीम की कमान सौंपी। तब से चेन्नई, मानो महेंद्र सिंह धोनी की होम टीम हो गई।

चेन्नई को जिता चुके हैं 3 आईपीएल खिताब

आईपीएल

आईपीएल 2008 से लेकर अब तक जब भी चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल में हिस्सा लिया है, तो टीम की कप्तानी करने का जिम्मा महेंद्र सिंह धोनी का रहा है। आईपीएल 2020 के खराब सीजन को छोड़ दिया जाए, तो चेन्नई सुपर किंग्स ने सभी आईपीएल सीजनों में फ्रेंचाइजी ने प्ले ऑफ के लिए क्वालिफाई किया है।

इतना ही नहीं धोनी आईपीएल के दूसरे सबसे सफल कप्तान हैं। उन्होंने सीएसके को तीन आईपीएल ट्रॉफी जितवाई है। जिसका क्रेडिट खिलाड़ियों को तो जाता ही है, लेकिन साथ ही कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की बेहतरीन कप्तानी को जाता है, जिसके बल पर चेन्नई आज आईपीएल की सबसे सफल फ्रेंचाइजियों में से एक है।