Rahul Dravid

अंडर-19 विश्वकप फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को खिताब अपने नाम करने वाली युवा भारतीय टीम सोमवार को स्वदेश वापस आ गई है। टीम का मुंबई स्थित छत्रपति शिवाजी इंटरनेशलन एयरपोर्ट में भव्य स्वागत किया गया। इस दौरान प्रशंसकों की भीड़ एयरपोर्ट में जुटी हुई थी। कोच राहुल द्रविड़ ने इस दौरान टीम की काफी सराहना भी की। कोच राहुल द्रविड़ ने कहा कि जीत का असली श्रेय खिलाड़ियों को जाता हैं,जिन्होंने दमदार प्रदर्शन करते हुए भारी दबाव में भी विश्वकप का खिताब अपने नाम किया है।

विश्वकप न उठाने का कोई दर्द नहीं

rahul dravid7591

मीडिया से बातचीत करते हुए राहुल द्रविड़ ने कहा कि एक खिलाड़ी के तौर पर विश्वकप न उठा पाने को लेकर हम निराश नहीं हैं। न ही इसका कोई दर्द है। हमारा क्रिकेट करियर खत्म हो चुका है। हमारे करियर में विश्वकप न उठाने को लेकर कोई निराशा नहीं थी।राहुल द्रविड़ ने बातचीत के दौरान टीम के प्रदर्शन पर प्रसन्नता व्यक्त की।

उन्होंने कहा कि  मैं इन लड़कों के प्रदर्शन से खुश हूं। एक कोच के रूप में हम दिन के अंत तक ही काम कर सकते हैं। लेकिन पूरा क्रेडिट इन खिलाड़ियों को जाना चाहिए।

फाइनल में टीम ने नंबर एक खेल नहीं खेला 

under19team123 2018017361

फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया को मात देने के बाद भी कोच राहु द्रविड़ का मानना है कि इस मुकाबले में टीम ने टीम  ने अपना नंबर एक गेम नहीं खेला है। जैसा कि हमने क्वार्टर फाइनल में बांग्लादेश और सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ खेला।

अब शुरू होगी टीम की असली चुनौती

rahul dravid biopic

विश्वकप जीतने के बाद सभी लोग काफी खुश हैं लेकिन कोच राहुल द्रविड़ का कहना है कि इन खिलाड़ियों की असल चुनौती अब शुरू होगी। उन्होंने कहा कि पूरी टीम ने लगभग 14 महीने जमकर मेहनत की है। कडे़ अनुशासन का पालन किया इसी का नतीजा है कि आज हम विश्वविजेता बने हैं।

इसके बाद टीम ज्यादा आत्मविश्वास से भरपूर है। इतना ही नहीं कोच राहुल द्रविड़ ने कहा कि टीम के प्रदर्शन में हम गर्व महसूस करते हैं। भारी दबाव में खेलना उन्हें और बेहतर बनाएगा,लेकिन उनकी असली चुनौती अब शुरू होती है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *