नाथन लियॉन

भारत और इंग्लैंड के बीच गुलाबी गेंद से खेला गया दूसरा टेस्ट मैच दो ही दिनों में खत्म हो गया और भारतीय टीम ने मैच को 10 विकेट से जीतकर सीरीज में 2-1 की बढ़त हासिल कर ली है। इस टेस्ट मैच की पिच को लेकर कई दिग्गज खिलाड़ियों ने आलोचना की है, तो वहीं कुछ इसका सपोर्ट करते नजर आ रहे हैं। अब इसी क्रम में ऑस्ट्रेलिया के ऑफ स्पिनर नाथन लियॉन ने भी पिच को लेकर अपने विचार प्रकट किए हैं।

जैसे ही विकेट पर स्पिन होती है, तो रोने लगते हैं लोग

आईसीसी-टेस्ट

इंग्लैंड टेस्ट सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच में स्पिन गेंदबाजों का बोलबाला देखने को मिला। 30 विकेट गिरे, जिसमें से 28 विकेट स्पिनर्स ने अपने नाम किए। इसके बाद अब लगातार पिच पर बहस चल रही है। इस चर्चा में अब नाथन लियॉन का नाम भी शामिल हो गया है। दिग्गज स्पिनर नाथन लियॉन ने एएपी से बात करते हुए कहा,

“हम पूरी दुनिया में सीम (यानि तेज गेंदबाजी) वाले विकेट पर खेलते हैं। जिसके चलते हम 47 या 60 रन पर ऑल आउट भी हो जाते हैं। तब कोई कुछ नहीं कहता है। मगर जैसे ही विकेट स्पिन करने लगता है तो दुनिया के सभी लोग रोने से लगते हैं। इसलिए मुझे समझ नहीं आता कि ऐसा क्यों हो रहा है। “

पिच क्यूरेटर को सिडनी के लिए चाहता हूं बुलाना

एक तरफ अहमादाबाद की पिच की दिग्गज खिलाड़ियों द्वारा आलोचना की जा रही है, तो वहीं नाथन लियॉन पिच से इतने प्रभावित हैं कि वह पिच क्यूरेटर को सिडनी बुलाने के बारे में सोच हे हैं। दरअसल, पिच पर स्पिन गेंदबाजों के लिए काफी मदद थी और भारत के स्पिनर्स ने इंग्लैंड के बल्लेबाजों के छक्के छुड़ा दिए। ऑस्ट्रेलिया के लिए 399 टेस्ट विकेट ले चुके लियोन ने आगे कहा,

“मैंने पूरी रात जागकर मैच देखा था। जिसके बाद मैं सोच रहा था कि क्यूरेटर को अपने यहां सिडनी क्रिकेट ग्राउंड के लिए बुला लूं।”

क्यों हो रही है बहस?

नाथन लियॉन

चेन्नई में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में पिच पर पहले दिन से ही टर्न था, जिसके चलते कई विदेशी दिग्गजों ने पिच को बल्लेबाजी के लायक मानने से ही इनकार कर दिया। इसके बाद नतीजा ये रहा कि बीसीसीआई ने पिच क्यूरेटर को सस्पेंड कर दिया।

इसके बाद अहमदाबाद की पिच पर तो स्पिन गेंदबाजों के लिए मदद थी और मैच सिर्फ 2 दिन में ही सिमट गया। ये युवराज सिंह, वीवीएस लक्ष्मण जैसे दिग्गज रास नहीं आई। तो वहीं रोहित शर्मा, विराट कोहली का कहना है कि पिच इतनी खराब नहीं थी जितना बताया जा रहा है।