ind vs aus

20 सितंबर को भारत के खिलाफ खेले गए मुकाबले ऑस्ट्रेलियाई टीम के तेज गेंदबाज नाथन एलिस (Nathan Ellis) ने बेहद ही शानदार प्रदर्शन दिखाया। उनकी बेहतरीन गेंदबाजी और फील्डिंग के दम पर टीम भारत को कड़ी शिकस्त देने में कामयाब हुई। भारत को मिली हार के पीछे के एलिस का अहम योगदान रहा।

उन्होंने टीम के लिए तीन विकेट लेने के साथ-साथ दो खिलाड़ियों का कैच लपक कर उन्हें पवेलियन लौटाया। कंगारू टीम के इस गेंदबाज के लिए यहां तक का सफर तय करना बिल्कुल भी आसान नहीं था। आइए इस आर्टिकल के जरिए जानते हैं इस गेंदबाज की संघर्ष की कहानी…..

Nathan Ellis गेंदबाज बनने से पहले करते थे मजदूरी

Nathan Ellis

किसी भी खिलाड़ी के लिए अपनी नेशनल टीम का प्रतिनिधत्व करना किसी बड़े सपने के सकार होने से कम नहीं होता है। हर खिलाड़ी को अपनी राष्ट्रीय टीम में जगह बनाने के लिए परिश्रम और संघर्ष करना पड़ता है। ऐसे ही कुछ नाथन एलिस (Nathan Ellis) के साथ भी हुआ। उन्होंने भी ऑस्ट्रेलिया टीम का हिस्सा बनने से पहले कई सारे संघर्ष किए। उन्हें दो वक्त की रोटी के लिए अपना घर छोड़ना पड़ा। वह कंस्ट्रक्शन साइट पर मजदूरी करके पैसे कमाते थे। लेकिन शनिवार को भी छुट्टी न मिल पाने की वजह से उन्होंने ये काम छोड़ दिया।  22 साल की उम्र में ही वे न्यू साउथ वेल्स छोड़कर तस्मानिया आ गए थे।

कई सारी जगह नौकरी कर चुके हैं Nathan Ellis

Nathan Ellis

नाथन एलिस ने कई सारी जगहों पर नौकरियां की है। मजदूर के साथ-साथ वे चंदा इकठ्ठा करने वाले भी बने। उन्होंने वर्ल्ड वाइल्डलाइफ फंड के लिए चंदा इकठ्ठा करना शुरू किया। वह इसके लिए 8 घंटों तक लोगों का दरवाजा खटखटाते थे। कुछ लोग उन्हें चंदा दे देते थे तो कुछ उनके मुंह पर ही दरवाजा बंद कर देते थे।

वहीं, एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने बताया कि ये नौकरी उनके करियर की सबसे खराब नौकरी थी। इसके बाद उन्हें हाई स्कूल में एक सहायक टीचर की नौकरी भी मिली। अपनी इस नौकरी के दौरान वे अपनी क्रिकेट प्रैक्टिस भी कर पा रहे थे। इसके बाद एलिस (Nathan Ellis) तस्मानिया के लिए दो सीजन खेले लेकिन वह ग्रेड लेवल क्रिकेट से आगे नहीं बढ़ सके।

Nathan Ellis को मिला उनकी मेहनत का फल

Nathan Ellis

नाथन एलिस की किस्मत ने तब नया मोड़ लिया जब तस्मानिया टीम के कोच एडम ग्रिफिथ ने उन्हें एक और सीजन टीम के लिए खेलने को कहा। तस्मानिया के लिए तीन सीजन खेलने के बाद उनकी ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम में एंट्री हुई, जहां उन्होंने साल 2021 में बांग्लादेश के खिलाफ टी20 क्रिकेट में टीम के लिए डेब्यू किया। उन्होंने अपने पहले मुकाबले में हैट्रिक झटक वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम किया। हालांकि उनको टीम के लिए ज्यादा खेलने का मौका नहीं मिल पाया।

लेकिन बीते मंगलवार भारत के खिलाफ उनका प्रदर्शन देखने के बाद ऐसा लग रहा है कि उनकी कंगारू टीम में जगह पक्की हो गई है। उन्होंने भारतीय बल्लेबाजों को मोहाली में खूब सताया। उन्होंने विराट कोहली, अक्षर पटेल और दिनेश कार्तिक को पवेलियन लौटाया। इसके अलावा केएल राहुल और रोहित शर्मा का कैच लपका। नाथन ने ऑस्ट्रेलिया के लिए अब तक 4 टी20 मुकाबले खेले हैं, जिसमें उन्होंने 12 विकेट हासिल किए।