muthaiyya

भारत (India) और श्रीलंका (Sri Lanka) के बीच हाल में खत्म हुई तीन एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला को भारत ने 2-1 से जीत लिया है। इस हार के बाद पूर्व खिलाड़ी और महान स्पिनर मुथैया मुरलीधरन का मानना है कि मौजूदा श्रीलंकाई क्रिकेट टीम वर्षों से मैच जीतना भूल गई है। उन्होंने जोर देकर कहा कि इस समय देश खेल के कठिन दौर से गुजर रहा है। आपको बता दें कि Sri Lanka की टीम कप्तान दासुन शनाका के नेतृत्व में पहले एकदिवसीय में 7 विकेट और दूसरे में 3 विकेट से हार गई थी। हालांकि अंतिम मैच जरुर लंकन टीम जीत गई थी। लेकिन, यह नाकाफी रहा।

श्रीलंका की टीम भूल चुकी है मैच जीतना : मुरलीधरन

sri lanka muthaiyya

हाल के समय में Sri Lanka की क्रिकेट टीम जिस तरह का प्रदर्शन कर रही है। उससे पूर्व दिग्गज गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन पूरी तरह से खुश नहीं हैं। मुरलीधरन ने ईएसपीएन क्रिकइन्फो से बातचीत करते हुए कहा कि ,

“मैंने आपको पहले ही बताया था, श्रीलंका को जीत के तरीके नहीं पता थे। वे पिछले इतने सालों से जीतने के तरीके भूल गए हैं। यह उनके लिए कठिन रहा है क्योंकि वे नहीं जानते कि मैच कैसे जीता जाए। ऐसा लगता है कि वो सब कुछ भूल चुके हैं।” 

पहले 10-15 ओवर में Sri Lanka को विकेट लेना सीखना होगा : मुथैया

sri lanka uthaiyya

मुथैया ने आगे भी कहा कि,

“मैं बताना चाहुंगा कि अगर Sri Lanka पहले 10-15 ओवर में तीन विकेट लेता है, तो भारत संघर्ष कर सकता है और वास्तव में भारत ने संघर्ष किया भी था। लेकिन, दीपक चाहर और भुवनेश्वर कुमार के प्रयास ने उन्हें जीत दिलाई और साथ ही श्रीलंका ने कुछ गलतियां कीं। उन्हें वानिंदु हसरंगा को गेंदबाजी करवानी चाहिए थी और एक विकेट लेने की कोशिश करनी चाहिए थी।”

श्रीलंका टीम को चाहिए कि वो सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज को गेंद करने के लिए कहें और उन्हें अंत तक रखने और उसका बचाव करने के बजाय विकेट लेने की कोशिश करें।