Sachin tendulkar And MS Dhoni

महेन्द्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तानों में से एक हैं. उन्होंने आईसीसी के तीनों बड़े टूर्नामेंट जीते हैं.धोनी टीम इंडिया के लिए खेलते हुए अपनी कप्तानी में कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं. वहीं दूसरी तरफ धोनी के बाद मास्टर बलास्टर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendukar) का नाम आता है.

जिन्होंने विश्व क्रिकेट में अपनी बल्लेबाजी से लौहा मनवाते हुए भारत का नाम रौशन किया है. सचिन ने भी टीम इंडिया के लिए खेलते हुए ढेरों बड़े स्कोर्ड्स अपने नाम किए हैं. वहीं सोशल मीडिया पर एक तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है. जिसमें सचिन और धोनी एक ऐड शूट के दौरान एक साथ एक फ्रेम में नजर आ रहे हैं.

एक फ्रेम में दो लीजेंड्स एक साथ आए नजर

MS Dhoni
MS Dhoni

महेन्द्र सिंह धोनी (MS Dhoni) और सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendukar) भारतीय क्रिकेट को वो चमचमाते सितारें हैं. जिन्होंने अपने खेल से भारत का नाम विश्व क्रिकेट में रौशन किया है. दोनों ही खिलाड़ियों ने भारत को कई बार गौरवान्वित करने अवसर प्रदान किया है. ऐसे में अगर ये खिलाड़ी साथ खेलते हुए दिखा जाए तो फैंस का दिन बना जाता है.

वैसे वायरल तस्वीर में दोनों खिलाड़ी एक साथ खेलते हुए नजर आ रहे लेकिन क्रिकेट के मैदान पर नहीं बल्कि बैडमिंटन के मैदान पर एक साथ खेलते हुए नजर आ रहे हैं. तस्वीर में देखा जा सकता है कि सचिन नेट के इस पार खड़े हैं तो वही दूसरी तरफ मिस्टर कूल यैलो टीशर्ट में स्माइल करते हुए दिखाई दे रहे हैं. हालांकि यह फोटो एक ऐड के दौरान क्लिक किया है.

साल 2011 में दोनों खिलाड़ियों ने टीम इंडिया को बनाया चैंपियन

MS Dhon and Dhoni
MS Dhon and Dhoni

टीम इंडिया ने पहली बार साल 1983 में कपिन देव की कप्तानी में  विश्व कप जीतने का सपना साकरा हुआ था. वहीं 28 साल के लंबे अंतराल के बाद महेन्द्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने फैंस को एक बार दोबारा जश्न मनाने का मौका दिया.साल 2011 के विश्व कप में टीम इंडिया ने शानदार प्रदर्शन किया और फाइनल में जाकर श्रीलंका को छह विकेट से मात दी थी और धोनी छक्का मारकर विश्व विजेता बनाया था.

वहीं सचिन तेंदुलकर भी इस विश्व कप का हिस्सा थे और उन्होंने शानदार पारियां खेली. जिन के दम पर टीम इंडिया फाइनल तक का सफर तय कर पाई. छोटे कद के सचिन ने अपने कद के विपरीत प्रदर्शन किया. सचिन ने 9 मैच में 53 से ज्यादा की औसत से कुल 482 रन बनाए थे. उन्होंने दो शतक और दो अर्धशतक लगाए थे. रन बनाने के मामले में श्रीलंका के तिलकरत्ने दिलशान ही सचिन से आगे थे. उन्होंने टूर्नामेंट में 500 रन बनाए थे.