MS Dhoni-IPL

आईपीएल 2021 (IPL 2021) का 27वां मैच शनिवार को मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला गया. इस मैच में  टॉस जीतकर कप्तान रोहित शर्मा ने गेंदबाजी का फैसला करते हुए एमएस धोनी (MS Dhoni) बल्लेबाजी का न्योता दिया था. पहले बल्लेबाजी करने उतरी चेन्नई को रितुराज गायकवाड़ के रूप में शुरूआती बड़ा झटका लगा. लेकिन, इस दौरान फाफ डु प्लेसिस के साथ मिलकर मोईन अली ने तूफानी पारी खेली.

मुंबई से हार के बाद माही ने बताई इसके पीछे की वजह

MS Dhoni

पहले बल्लेबाजी करते हुए चेन्नई सुपर किंग्स ने 4 विकेट के नुकसान पर 218 रन बनाए थे. इस स्कोर में सबसे बड़ा योगदान अंबाती रायडू के बल्ले से 27 गेंद में निकला 72 रन था. उन्होंने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए 4 चौके और 7 छक्के की मदद से 72 रन बनाए थे. इसके साथ ही शुरूआत में मोईन अली ने भी विस्फोटक पारी खेली थी. उन्होंने शानदार बल्लेबाजी करते हुए 36 गेंद में 58 रन की जबरदस्त पारी खेली थी.

जिसकी बदौलत चेन्नई ने मुंबई के सामने 218 रन का लक्ष्य खड़ा किया था. जिसका पीछा करने उतरी मुंबई की शुरूआत अच्छी रही. लेकिन, कप्तान रोहित के जाने के बाद मीडिल ऑर्डर खराब प्रदर्शन करते हुए दिखाई दिया. लेकिन इस दौरान पोलार्ड ने टीम की नई पार लगाई और 4 विकेट से जीत दिलाई. इस मुकाबले में मिली करारी शिकस्त के बाद एमएस धोनी (MS Dhoni) ने फिल्डिंग पर इसका ठीकरा फोड़ा है.

फिल्डरों को धोनी ठहराया हार का जिम्मेदार

5ब76ूप

इस हार के पोस्ट प्रजेंटेशन मैच में बयान देते हुए सीएसके के कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) ने अपने बयान में कहा कि,

“गेंदबाजी से ज्यादा हमारी फिल्डिंग खराब रही. हमने कई जरूरी मौकों पर कैच छोड़ दिए. गेंदबाज भी कई बार अपने प्लान को के मुताबिक सही काम नहीं कर सके”. 

आगे इसी सिलसिले में एमएस धोनी (MS Dhoni) ने कहा कि,

“गेंदबाजों ने कई सारी लूज गेंदें भी फेंकी. यह एक बड़ा टूर्नामेंट है और कई नजदीकी मुकाबले हम जीतते हैं तो हारते भी हैं. लेकिन, ऐसी हार से हम बहुत कुछ सीखते भी हैं. फिलहाल हमारी निगाह अभी प्वाइंट टेबल पर नहीं है. हम हर दिन उस खास मुकाबले के बारे में सोचते हैं और उसकी तैयारी करते हैं”.

मुंबई को पोलार्ड ने दिलाई धमाकेदार जीत

WhatsApp Image 2021 05 01 at 7.38.35 PM

यह पहला ऐसा मुकाबला था जिसमें मुंबई की ओर से इस तरह के बड़े स्कोर का पीछा करते हुए देखा गया. इस जीत का पूरा श्रेय किरोन पोलार्ड को जाता है. जिन्होंने शानदार गेंदबाजी के साथ ही मुंबई के लिए धुंआधारी बल्लेबाजी भी की और यही नहीं बल्कि अपने प्लान को अंजाम भी दिया. उन्होंने 34 गेंद पर 87 रन की जबरदस्त पारी खेली. साथ ही टीम को जीत भी दिलाई.