MS Dhoni-DC

चेन्नई सुपर किंग्स और दिल्ली कैपिटल्स (CSK vs DC) के बीच खेला गया IPL 2021 का 50वां मुकाबला आखिर तक रोमांच से भरा रहा. MS धोनी (MS Dhoni) की टीम को इस मुकाबले में करारी हार का सामना करना पड़ा है. ये लगातार चेन्नई की दूसरी हार है. आज के मुकाबले में टॉस जीतकर कप्तान ऋषभ पंत (Rishabh Pant) ने गेंदबाजी का फैसला करते हुए सीएसके को बल्लेबाजी का न्योता दिया था. नतीजतन पहले बल्लेबाजी करने उतरी चेन्नई की शुरूआत बेहद खराब रही. 20 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर चेन्नई ने 136 रन का स्कोर खड़ा किया था. जिसके जवाब में उतरी दिल्ली कैपिटल्स ने इस मैच को 3 विकेट से जीत लिया.

दिल्ली के खिलाफ चेन्नई को लगातार मिली दूसरी हार

MS Dhoni

इस मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स की तरह दिल्ली कैपिटल्स की भी शुरूआत अच्छी नहीं रही. शिखर धवन का विकेट गिरने के बाद ऐसा लगा कि, मैच का रूख पलट गया है और चेन्नई की टीम मैच में फिर वापसी कर चुकी है. लेकिन, यहां भी ट्विस्ट बाकी था. क्योंकि शिमरॉन हेटमायर को आज आर अश्विन के बाद भेजा गया था. क्रीज पर उन्हें देखकर दिल्ली के फैंस में जान बची हुई थी. इस दौरान दो बार उन्हें जीवनदान मिले.

19वें ओवर में उनके बल्ले से निकले छक्के ने मुकाबले में जान फूंक दी थी. लेकिन, तभी अक्षर पटेल चलते बने. आखिरी 3 गेंद में दिल्ली को जीतने के लिए 2 रन चाहिए थे और स्ट्राइक पर कगिसो रबाडा खड़े थे. तो वहीं गेंदबाजी ब्रावो कर रहे थे. उन्होंने खराब गेंद डाली जिसका फायदा उठाते हुए कगिसो ने फाइन लेग की तरफ एक शानदार चौका जड़ा. बर्थडे पर जहां पंत को जीत का तोहफा मिला. वहीं एमएस धोनी (MS Dhoni) को लगातार दूसरी निराशा हाथ लगी.

हार के बाद सीएसके के कप्तान बताई वजह

photo 2021 10 04 23 57 37

दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ मिली इस करारी शिकस्त के बाद चेन्नई सुपर किंग्स अंकतालिका में दूसरे पायदान पर आ गई है. वहीं दिल्ली शीर्ष पर कब्जा जमा चुकी है. मैच प्रजेंटेशन में बात करते हुए एमएस धोनी (MS Dhoni) ने कहा कि,

“हम 150 के करीब पहुंचना चाह रहे थे. जब हमने कुछ विकेट गंवाए तो 15-16वें ओवर के आसपास मंच अच्छा था. हम तेजी लाने में विफल रहे. मुझे लगा कि यह कठिन पिच है. 150 के करीब अच्छा स्कोर होता. यह दो गति वाला विकेट है. ऐसा नहीं है कि यह बहुत धीमा हो गया. सिर्फ अपने शॉट नहीं खेल सकते. जिसका सामना दिल्ली के बल्लेबाजों ने भी किया. लम्बे गेंदबाजों को मूवमेंट मिल रहा था. इससे बाहर खेल बनाने का यह एक बहुत अच्छा प्रयास था. महत्वपूर्ण था कि पहले छह गेंदो में ज्यादा रन न दें. हमने दो विकेट गंवाने के बाद अच्‍छा प्रदर्शन किया.

लेकिन, बाद में हम धीमे हो गए. यह ऐसा विकेट नहीं था जिस पर खुलकर बल्लेबाजी कर सकें. रूककर गेंद आ रही थी. गेंदबाजों के लिए मूवमेंट था. लेकिन अगर बल्लेबाज समझदारी से खेलें तो यहां रन बन सकते थे. दिल्ली के बड़े बल्लेबाज क्रीज पर थे. इसलिए वह शुरुआती रन तो बनने की उम्मीद थी. लेकिन, हमने अंत तक मैच पर पकड़ बनाए रखी यह अच्छी बात रही. अब हम अगले मैच पर ध्यान देंगे.”