indian team dhoni

बीसीसीआई ने टी20 विश्व कप टीम का ऐलान करने के साथ ही पूर्व कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) को मेगा इवेंट के लिए टीम इंडिया का मेंटॉर नियुक्त किया है। इस फैसले के सामने आने पर सभी हैरान रह गए। बीसीसीआई के इस फैसले से सभी खुश नजर आ रहे हैं। मगर इस बीच पूर्व भारतीय क्रिकेटर अजय जडेजा ने एमएस धोनी को भारतीय टीम का मेंटॉर नियुक्त करने पर सवाल उठाए हैं।

MS Dhoni की समझ कैसे आएगी काम

MS Dhoni

भारतीय पूर्व क्रिकेटर अजय जडेजा ने एमएस धोनी (MS Dhoni) को टी20 विश्व कप में भारतीय टीम का मेंटॉर बनाए जाने के फैसले पर सवाल उठाया है। वह इस बात के बारे में सोच रहे हैं कि धोनी की जो क्रिकेट की समझ है उसका कैसे इस्तेमाल किया जाएगा। जडेजा ने सोनी स्पोर्ट्स से कहा कि

“मेरे लिए यह बात समझ से परे है। मैं 2 दिन से सोच रहा हूं कि इसके पीछे क्या सोच होगी। MS Dhoni की खेल को लेकर जो समझ है वो कैसे काम आएगी, मैं इस बारे में बात नहीं कर रहा हूं। ये ऐसा है कि आप रवींद्र जडेजा को अजिंक्य रहाणे के ऊपर भेज दें, वो खिलाड़ी सोचेगा कि ऐसा क्यों किया गया?”

धोनी का मुझसे बड़ा नहीं होगा कोई फैन

MS Dhoni ने 2017 में लिमिटेड ओवर क्रिकेट में टीम इंडिया की कप्तानी छोड़ दी थी। उसके बाद विराट कोहली को टीम का कप्तान नियुक्त किया गया था। वहीं 2014 में टेस्ट से संन्यास के बाद विराट को टेस्ट की कप्तानी सौंपी गई। पूर्व भारतीय बल्लेबाज ने आगे कहा कि

“मैं वाकई हैरान हूं। एमएस धोनी का मुझसे बड़ा कोई फैन नहीं होगा। मेरा मानना है कि धोनी पहले ऐसे कप्तान हैं, जिन्होंने अपना पद छोड़ने से पहले ही अगला कप्तान तैयार कर दिया था। विराट कोहली की कप्तानी में धोनी 2 साल से भी ज्यादा वक्त तक सीमित ओवर क्रिकेट खेले थे।”

रातों रात क्यों पड़ी मेंटॉर की जरुरत

MS Dhoni

MS Dhoni का भारतीय ड्रेसिंग रूम में होना बहुत ही सकारात्मक होगा। उनका अनुभव भारतीय खिलाड़ियों के काम आएगा। मगर अजय जड़ेजा का कहना है कि जब टीम में कप्तान, कोच सभी हैं, तो रातों-रात मेंटॉर की भला क्या जरुरत पड़ गई। जडेजा ने इस बात पर जोर दिया कि,

“विराट कोहली की कप्तानी और रवि शास्त्री की कोचिंग में टीम इंडिया ने अच्छा प्रदर्शन किया है और इसलिए, मुझे लगता है कि टी20 विश्व कप के लिए एक मेंटॉर की कोई जरूरत थी। जब आपने नया कप्तान बना दिया और वो खिलाड़ी अपने दम पर टीम को अलग मुकाम पर ले गया। वहीं, एक कोच है, जिसने टीम को दुनिया में नंबर-1 बना दिया तो फिर रातों-रात ऐसा क्या हो गया कि टीम इंडिया को एक मेंटर की जरूरत पड़ी, मुझे यह बात थोड़ा हैरान कर रही है।”