monty panesar on ENG vs AUS Ashes Series 2021-22

इंग्लैंड के पूर्व दिग्गज स्पिनर मोंटी पनेसर (Monty Panesar) ने एशेज सीरीज (Ashes) को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है. 8 दिसंबर से शुरू होने वाली इस श्रृंखला से पहले क्रिकेट एक्सपर्ट्स अपनी-अपनी भविष्यवाणी करने में लगे हैं. दरअसल जो रूट की कप्तानी में इंग्लैंड टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 8 दिसंबर को उन्हीं की सरजमीं पर उतरेगी. ऐसे में इस श्रृंखला में किस टीम का पलड़ा भारी रहेगा उसे लेकर भी मोंटी पनेसर (Monty Panesar) ने अपनी राय दी है.

एशेज सीरीज में किस टीम का पलड़ा रहेगा भारी?

monty panesar on Ashes series

पूर्व इंग्लिश खिलाड़ी का मानना है कि इस श्रृंखला में इंग्लैंड टीम पलड़ा भारी रहेगा और जो रूट (Joe Root) के नेतृत्व में अंग्रेजी टीम एशेज श्रृंखला को अपने नाम कर सकती है. एशेज सीरीज की मेजबानी ऑस्ट्रेलिया कर रही है. पिछले दो एशेज टूर की बात करें तो इंग्लैंड को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा है. जनवरी 2011 में आखिरी बार इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया में जीत हासिल की थी. इसके बाद उन्हें कंगारू सरजमीं पर 10 में से 9 मैचों में सिर्फ हार का सामना करना पड़ा है.

लेकिन, इस साल की बात करें तो भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को उन्हीं की धरती पर हराया था और ये शायद बड़ा कारण हो सकता है कि इंग्लैंड टीम आत्मविश्वास से भरी है कि वो भी कंगारूओं को उन्हीं के घर में मात दे सकती है. मोंटी पनेसर (Monty Panesar) का कहना है कि जेम्स एंडरसन ने जिस तरह का इम्पैक्ट इंग्लैंड में 2010-11 में डाला था उसी तरह का इम्पैक्ट इस बार भी वो डालेंगे.

नया कप्तान होने का फायदा उठा सकता है अंग्रेजी टीम- पूर्व क्रिकेटर

eng vs aus ashes 2021

इसके साथ ही इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलियाई टीम के नए कप्तान को लेकर भी अपनी चिंता जाहिर की है. इस बारे में बात करते हुए मोंटी पनेसर (Monty Panesar) ने कहा,

“मुझे नहीं लगता है कि ये ऑस्ट्रेलियाई टीम उन उम्मीदों पर खरा उतरती है और उनके ऊपर काफी दबाव भी है. अगर आप इंग्लैंड टीम को देखें तो हमने 2010/11 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत हासिल की थी.

जेम्स एंडरसन ने शानदार प्रदर्शन किया था और इस बार भी वो अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं. दो पिंक बॉल टेस्ट मैच भी है और मेरे मुताबिक इंग्लैंड इस गेंद से बेहतर टीम है. मेरे हिसाब से इंग्लैंड की टीम एशेज सीरीज के लिए फेवरेट है क्योंकि ऑस्ट्रेलिया का कप्तान भी इस बार नया है.”