Mohammed Shami gave advice to captain Hardik Pandya
Mohammed Shami gave advice to captain Hardik Pandya

Mohammed Shami: इस साल डेब्यू कर रही हार्दिक पांड्या की नेतृत्व वाली टीम गुजरात टाइटन्स के लिए आईपीएल 2022 का मौजूदा सीजन बेहद शानदार रहा है. आईपीएल 2022 के लिए क्वालिफाई करने वाली टाइटन्स पहली टीम बन गई है. अब तक इस सीजन में खेले गए 12 मैचों में से गुजरात फ्रेंचाइजी ने 9 मुकाबलो में जीत दर्ज की है और प्वाइंट्स टेबल में सबसे पहले पायदान पर विराजमान है. लेकिन, इसी बीच गुजरात के अनुभवी तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) ने कप्तान हार्दिक को एक बड़ा सुझाव दिया है.

कप्तान बनने के बाद हार्दिक धैर्यवान हुए हैं हार्दिक

 Mohammed Shami on Hardik pandya

बीते दिन शुक्रवार को मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) ने गुजरात टाइटन्स के कप्तान हार्दिक पांड्या के बारे में बात करते हुए कहा,

“वह (हार्दिक) कप्तान बनने के बाद काफी धैर्यवान हो गया है. उसकी प्रतिक्रिया में पहले की तरह आक्रामकता नहीं है. मैंने उसे सलाह दी है कि मैदान पर अपनी भावनाओं पर काबू रखे. क्योंकि पूरी दुनिया इस क्रिकेट को देखती है. एक कप्तान के तौर पर समझदार होना, परिस्थितियों को समझना बहुत जरूरी है और उसने इस भूमिका को पूरी तरह से निभाया है.”

हर कप्तान अलग स्वभाव का होता है- Mohammed Shami

 Mohammed Shami- Hardik pandya

मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) की करियर की बात करें तो लंबे अरसे से वो टीम इंडिया के लिए खेल रहे हैं. अब तक उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी, विराट कोहली और रोहित शर्मा समेत कई दिग्गज कप्तानों के नेतृत्व में भारतीय टीम के लिए खेला है और वो बात से अच्छी तरह वाकिफ हैं कि हर कप्तान का अपना एक अलग तरीका होता है. इस बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा,

“हर कप्तान का स्वभाव अलग होता है. माही (धोनी) भाई शांत थे. विराट आक्रामक थे. रोहित मैच परिस्थितियों के अनुसार आगे बढ़ते हैं. इसलिए हार्दिक की मानसिकता को समझना कोई मुश्किल काम नहीं है. हार्दिक ने टीम को एकजुट रखा है. मैंने एक खिलाड़ी की तुलना में एक कप्तान के रूप में उसमें बहुत सारे बदलाव देखे हैं.”

बता दें कि गुजरात टाइटन्स के लिए हार्दिक पांड्या को टीम की कप्तानी देना बहुत बड़ा फैसला था. लेकिन, फ्रेंचाइजी और मैनेजमेंट के भरोसे को किस तरह से जीतना है इसके बारे में उन्हें अच्छी तरह से पता था. आखिर में उन्होंने ना सिर्फ कप्तान के तौर पर बल्कि एक ऑलराउंडर के तौर पर भी खुद को साबित कर दिखाया है.