पूर्व भारतीय बल्लेबाज मोहम्मद कैफ टीम के चयन में लगातार बदलाव से बिल्कुल भी खुश नजर नहीं आ रहे है. हाल में ही अपने एक बयान में कैफ ने इसके लिए टीम के कप्तान विराट कोहली की जमकर आलोचना भी की. कैफ का मानना ​​है कि कोहली टीम की प्लेइंग इलेवन में काफी बदलाव कर रहे हैं, जिससे खिलाड़ियों को मदद नहीं मिल रही है और इस तरह टीम को नुकसान भी हो रहा है.

वहीं कैफ का ऐसा भी मानना है कि ऋषभ पंत को अंतिम एकादश में पहले विकेटकीपर के रूप में स्थान मिलना चाहिए था, जबकि केएल राहुल को बैक-अप कीपर.

अब राहुल बने टीम के विकेटकीपर

साल की शुरुआत में जब ऑस्ट्रेलिया भारत दौरे पर आया था, तब ऋषभ पंत के चोटिल हो जाने के बाद लोकेश राहुल को विकेटकीपर के रूप में खिलाया गया और पंत के पूरी तरह से फिट हो जाने के बाद भी राहुल ही बतौर कीपर टीम के साथ नजर आये. अब राहुल ने ऋषभ के लिए अंतिम ग्यारह में वापसी करना बेहद ही मुश्किल बना दिया है.

हालांकि, कैफ को लगता है कि पंत को ‘वाटर बॉय’ बनाने की जगह सीमित ओवरों में अधिक मौके दिए जाने चाहिए. मोहम्मद कैफ से पहले टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने भी भारत की चयन रणनीतियों की आलोचना करते हुए पंत का समर्थन किया था.

क्या कहते है कैफ

टीम इंडिया के लिए साल 2003 का विश्व कप खेल चुके मोहम्मद कैफ ने हेलो ऐप पर बात करते हुए कहा,

‘’विकेटकीपिंग की भूमिका के लिए भी, वे कई खिलाड़ियों से किनारा कर रहे हैं. भारत को एक स्थायी विशेषज्ञ विकेटकीपर की जरूरत है. केएल राहुल एक बैकअप विकेटकीपर हो सकते हैं लेकिन मुझे नहीं लगता कि उन्हें मुख्य होना चाहिए. अगर आप धोनी के ऊपर ऋषभ पंत का समर्थन करना चाहते हैं, तो कोहली को उन्हें वापस करना चाहिए. उन्हें टीम का वाटर बॉय नहीं होना चाहिए.”

इस बीच, मोहम्मद कैफ को लगता है कि कोहली को अपने खिलाड़ियों में विश्वास पैदा करने की कोशिश करनी चाहिए. कैफ ने कहा कि कोहली ने पिछले विश्व कप में अनुभवहीन खिलाड़ियों का चयन किया और टीम को न्यूजीलैंड के खिलाफ सभी महत्वपूर्ण सेमीफाइनल में कीमत चुकानी पड़ी.

कोहली को लगाई फटकार

मोहम्मद कैफ ने आगे अपने बयान में कप्तान विराट कोहली को लेकर कहा, कि

“कोहली टीम चयन के साथ बहुत सारे प्रयोग कर रहे हैं. उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था. कोहली ने कई संयोजनों की कोशिश की और यहां तक ​​कि चयनित खिलाड़ियों ने भी पिछले विश्व कप के दौरान इतना प्रदर्शन नहीं किया. कोहली को अपनी टीम के चयन पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए. यदि किसी भी खिलाड़ी ने कुछ मैचों के लिए अपना फॉर्म खो दिया है, तब भी उसे उसका समर्थन करना चाहिए. कोहली को खिलाड़ी बनाने चाहिए. इसके बाद ही वह अच्छी टीम बना सकते हैं.’’

इस बात में कोई संदेह नहीं है कि बीते कुछ समय में कप्तान विराट कोहली और चयनकर्ताओं ने टीम में काफी फेरबदल किये. टीम में अनुभवी खिलाड़ियों के स्थान पर अनुभवहीन खिलाड़ियों को ज्यादा मौका दिया गया.

AKHIL GUPTA

क्रिकेट...क्रिकेट...क्रिकेट...इस नाम के अलावा मुझे और कुछ पता नहीं हैं. बस क्रिकेट...