shoaib akhtar
Shoaib Akhtar

भारतीय टीम ने पूर्व बल्लेबाज मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) अपने बेबाक अंदाज के लिए जाने जाते हैं. वह बड़ी निडरता के साथ अपनी बात को फैंस के साथ साझा करते हैं. उन्होंने वर्ल्ड कप 2003 से जुड़ा एक मजेदार किस्से का जिक्र किया है. जिसमें पाकिस्तान के तेज गेंदबाज शोएब अख्तर की पोल खोली है. वैसे तो शोएब अख्तर को मैदान पर दौड़ लगाते हुए तेज गेंद फेंकने के लिए जाना है. लेकिन, वह फील्डिंग के दौरान उतना अच्छा नहीं दौड़ पाते. जिसकी वजह से मिस फील्ड कर बैठते हैं.

Mohammad Kaif ने खोली शोएब अख्तर पोल

Mohammad Kaif
Mohammad Kaif

भारत-पाकिस्तान के बीच खेले जाने वाले मैच, काफी हाई प्रेशर वाले मैच होते हैं. जिसमें अनुभवी खिलाड़ी भी नर्वस होकर कुछ ना कुछ गलती कर बैठते हैं. ऐसा अमूमन भारत और पाकिस्तान के मुकाबलों में देखने को मिलता है. वहीं मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) वर्ल्ड कप 2003 से जुड़ा किस्सा बताया है. जिसमें पाकिस्तान के तेज गेंदबाज शोएब अख्तर थके हुए थे.

जिसका फायदा भारतीय बल्लेबाजों ने उठाते हुए दौड़कर 4 रन चुरा लिए. जब कोई तेज गेंदबाज अपना स्पेल खत्म करके फील्डिंग के लिए जाता है और उस दौरान तुरंत फील्डिंग के दौरान दौड़ लगानी पड़ जाए तो, वह अपना बेस्ट नहीं दे पाता. ऐसा ही कुछ नजारा वर्ल्ड कप 2003 में शोएब अख्तर( Shoaib Akhtar) के साथ देखने को मिला. मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) पुरानी बातों को याद करते हुए कहा कि,

‘पाकिस्तान के खिलाफ 2003 वर्ल्ड कप मैच में हमने एक शॉट खेला. शोएब अख्तर गेंद को फील्ड करने के लिए उसके पीछे दौड़े, लेकिन जब तक वो गेंद को उठाकर थ्रो करते हमने चार रन पूरे कर लिए थे. दरअसल, शोएब अख्तर अपना स्पेल पूरा करके ही गए थे.

इसके बाद सचिन तेंदुलकर ने एक फ्लिक शॉट खेला और शोएब अख्तर ने मिड ऑन से मिड विकेट की दिशा में दौड़ लगाई. मुझे अच्छी तरह से याद है कि हमने दौड़कर चार रन बना लिए थे’

भारतीय टीम ने जीता था मुकाबला

IND vs PAK
IND vs PAK

 भारत और पाकिस्तान (IND vs PAK) के मुकाबले में हमेशा से ही टीम इंडिया का ही दबदबा देखने को मिला है. क्योंकि, हाई प्रेशर वाले मैचों में भारत, पाकिस्तान पर हमेशा ही हावी रहता है. ऐसा ही कुछ साल 2003 में देखने को मिला. वर्ल्ड कप 2003 ने  पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करते हुए निर्धारित 50 ओवरों में भारत के सामने 273 रनों का लक्ष्य रखा.

इस मुकाबले में जय-वीरू की जोड़ी ने कमाल की बल्लेबाकी थी. वीरेंदर सहवाग और सचिन तेंदुलकर की जोड़ी ने पाक गेंदबाजों की जमकर कुटाई की. सचिन तेंदुलकर ने 98 रनों की विस्फोटक पारी खेली. जिसकी बदौलत भारत ने इस मुकाबले में पाकिस्तान को धूल चटा दी.