Mithali Raj 770x433 1

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज (Mithali Raj) का महिला वनडे वर्ल्ड कप 2022 से पहले एक बड़ा बयान सामने आया हैं. जिसमें उन्होंने युवा खिलाड़ियों के करियर पर निशाना साधा हैं. बता दें कि, महिला वनडे वर्ल्ड कप 2022 विश्व कप न्यूजीलैंड में 4 मार्च से शुरू होगा. उससे पहले कप्तान मिताली राज (Mithali Raj) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में युवा खिलाड़ियों पर अपनी प्रतिक्रिया दी हैं. साथ ही भारतीय कप्तान ने विश्व कप में पहली बार खेलने जा रही खिलाड़ियों को सलाह दी है कि वे अपने ऊपर दबाव को हावी ना होने दें.

कप्तानों की मीडिया कांफ्रेंस में बोलीं मिताली राज

महिला वनडे वर्ल्ड कप 2022 विश्व कप (women’s ODI World Cup) के लिए सभी अपनी अपनी तैयारियों में जुटी हुईं है. इस टूर्नामेंट का आयोजन 4 मार्च  से किया जाएगा.जोकि न्यीजीलैंड में खेला जाएगा. इस विश्व कप से पहले सभी 8 टीमों के कप्तानों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. जिसमें भारतीय महीला टीम की कप्तान मिताली राज (Mithali Raj) बड़ा रिएक्शन सामने आया हैं. मिताली राज ने कहा कि,

‘हमने टीम में कुछ युवा प्रतिभाओं को आजमाया और उनमें से अधिकतर ने दिखाया कि उनमें इस स्तर पर खेलने की क्षमता है। इनमें रिचा, शेफाली जैसी खिलाड़ी शमिल हैं, हमारे पास तेज गेंदबाजों में मेघना सिंह, पूजा वस्त्रकार हैं। इन सभी को काफी मैच खेलने को मिले हैं और इन सीरीज से कप्तान के रूप में मुझे काफी मदद मिली कि वे टीम के संयोजन में कहां फिट बैठती हैं।’

Mithali Raj ने युवा खिलाड़ियों को दी ये सलाह

Mithali Raj

महिला वनडे वर्ल्ड कप 2022 में पहली बार खेलने वाले खिलाड़ियों को भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज (Mithali Raj) ने एक संदेश दिया हैं. क्योंकि विश्व कप एक बड़ा टूर्नामेंट होता हैं जिस पर विश्वभर की निगाहें होती. विश्व कप खेलते समय नये खिलाड़ी विरोधी टीम के दबाव में आ जाते हैं, और मैच में कुछ ना कुछ गतली कर बैठते है. उससे बचने के लिए मिताली राज खिलाड़ियों को एक सलाह दी हैं. कप्तानों की मीडिया कांफ्रेंस के मिताली ने कहा,

 “जहां तक मेरी बात है तो मैं अपने प्रदर्शन से खुश हूं और मैं विश्व कप में इस फॉर्म को जारी रखना चाहती हूं।”

भारतीय कप्तान ने विश्व कप में पहली बार खेलने जा रही खिलाड़ियों को सलाह दी है कि वे दबाव नहीं लें और बड़े मंच पर खेलने का लुत्फ उठाएं. भारत ने दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में कुछ नई प्रतिभाओं को आजमाया था. शेफाली वर्मा और रिचा घोष जैसी युवा खिलाड़ियों ने दिखाया है कि उनमें शीर्ष स्तर पर चुनौती पेश करने की क्षमता है. ऐसे में महिला वनडे वर्ल्ड कप 2022  में भी युवा खिलाड़ी अपनी प्रतिभा का जलवा दिखा सकते हैं.