Mignon du Preez retires from all international cricket

साउथ अफ्रीका महिला क्रिकेट टीम की अनुभवी खिलाड़ी मिग्नॉन डू प्रीज (Mignon du Preez) ने 33 साल की उम्र में अपने 16 साल के लंबे इंटरनेशनल करियर को अलविदा कह दिया है। 9 दिसंबर का दिन साउथ अफ्रीकाई फैंस के लिए भावुक कर देने वाला है। इस महिला क्रिकेटर ने दक्षिण अफ्रीका के लिए कई मैच जिताऊ पारी खेली है। लेकिन, वह अपनी टीम को खिताब जिताने में कभी कामयाब नही हो सकीं। उन्होंने हाल ही में इग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में 200 रनों की एक ताबड़तोड़ पारी खेली थी। जिसे किसी खेल प्रेमी के लिए भुला पाना बेहद ही मुश्किल साबित होगा।

भावुक हुई Mignon du Preez

मिग्नॉन डु प्रीज ने वनडे और टेस्ट क्रिकेट से तत्काल प्रभाव से लिया संन्यास

साउथ अफ्रीका टीम की हरफनमौला खिलाड़ी मिग्नॉन डू प्रीज (Mignon du Preez) ने क्रिकेट के तीनो प्ररूपो वनडे, टी20 और टेस्ट से सन्यास की घोषणा कर दी है। उन्होंने टी20 में अपना आखिरी मुकाबला इग्लैंड के बर्मिंघम में खेला था। वहीं उनके सन्यास की खबर ने फैंस को झक-झोर के रख दिया है। इसी बीच मिग्नॉन डू प्रीज ने कहा कि,

“अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के पंद्रह साल से ज्यादा साल अच्छे रहे हैं। आप जिस चीज से प्यार करते हैं, उससे दूर जाना कभी भी आसान फैसला नहीं होता, जितना कि मैं क्रिकेट से प्यार करती हूं, लेकिन मैं दिल से जानती हूं कि मेरे संन्यास की घोषणा करने का यह सही समय है। हालांकि, मैं वैश्विक लीग में खेल के छोटे प्रारूप को तब तक खेलना जारी रखूंगी जब तक कि मुझे मां बनने और खुद का परिवार शुरू करने का सौभाग्य नहीं मिल जाता है। अब सभी के समर्थन के लिए धन्यवाद।”

Mignon du Preez का टी20 रिकॉर्ड

दक्षिण अफ्रीका की बल्लेबाज मिग्नॉन डू प्रीज ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास - South Africa Batter Mignon Du Preez Announces Retirement From International Cricket in Hindi ...

दक्षिण अफ्रीका महिला टीम की खिलाड़ी Mignon du Preez ने 17 साल की युवा उम्र में एकदिवसीय मुकाबले में डेब्यू किया था। इसके बाद उन्होंने 7 महीने के बाद अगस्त 2007 में टी20 टीम में डेब्यू किया था। 33 वर्षीय मिग्नॉन ने 114 टी20 मैच खेले हैं, जिसमें 20.98 के शानदार औसत से 1,805 रन बनाए हैं। जिसमें 7 अर्धशतक और 2014 में सोलीहुल में आयरलैंड के खिलाफ 69 का उच्च स्कोर शामिल है। उन्होंने अंत में कहा कि, “मेरे पहले मिनी-क्रिकेट कोच होने और मुझे इस खूबसूरत खेल से प्यार कराने के लिए और इस तरह के अद्भुत रोल मॉडल होने के लिए मेरे मां और पिताजी को एक विशेष धन्यवाद।”