Rohit Sharma-Rishabh Pant

Team India ने New Zealand के साथ खेली गई T20I सीरीज को 3-0 से जीतकर अपने नाम कर लिया है। इस सीरीज में वैसे तो भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन किया, लेकिन एक क्षेत्र था, जहां अभी भी टीम इंडिया को काम करना होगा और वो है Middle Order। लंबे वक्त से चली आ रही ये समस्या अभी भी टीम में बरकरार है, जो रविवार को एक बार फिर उजागर हो गई। अब यदि भारत को T20 WC 2022 में ट्रॉफी जीतनी है, तो यकीनन इस मुश्किल को हल करना होगा।

Middle Order हुआ फ्लॉप

Middle Order, Team India vs New Zealand
Team India vs New Zealand

Team India ने संयुक्त प्रदर्शन के साथ टी20 सीरीज में न्यूजीलैंड के चारों खाने चित्त कर दिए। इस बात में कोई संदेह नहीं है कि भारत का टॉप ऑर्डर बेहद मजबूत है, जिसके चलते मध्य क्रम को मौके कम ही मिलते हैं। इस सीरीज में भी ऐसा ही देखने को मिला, शुरुआती दो मैचों में तो टॉप ऑर्डर ने ही नईय्या पार लगा दी और मध्य क्रम को अधिक मौके नहीं मिल सके।

लेकिन जब तीसरे मैच में भारतीय Middle Order को प्रदर्शन करने और टीम के लिए रन बनाने की जरुरत थी, तो एक बार फिर उन्होंने निराश किया। जहां, ऋषभ पंत 4 रन पर आउट हुए, वहीं श्रेयस अय्यर व वेंकटेश अय्यर ने क्रमश: 25, 20 रन बनाए। जबकि ऐसे वक्त में Middle Order को जिम्मेदारी उठानी चाहिए थी और तूफानी प्रदर्शन करते हुए स्कोरबोर्ड को आगे बढ़ाना चाहिए था। लेकिन ये समस्या आज से थोड़ी ना है, बल्कि लंबे वक्त से भारत का मध्य क्रम टीम की मुश्किल बढ़ाता रहा है।

लंबे वक्त से चली आ रही ये समस्या

सीमित ओवर क्रिकेट में भारतीय टीम के Middle Order की कहानी अब तो पुरानी सी लगने लगी है। जी हां, जब भी मौका आता है, तो मिडिल ऑर्डर स्कोर ही नहीं कर पाता। एक वक्त था, जब युवराज सिंह-सुरेश रैना जैसे खिलाड़ी मिडिल ऑर्डर में भरोसा बनाकर रखते थे। लेकिन लंबा वक्त बीत गया है और भारत को भरोसेमंद मिडिल ऑर्डर प्लेयर्स नहीं मिल सके हैं।

विश्व कप 2019 हो या फिर टी विश्व कप 2021, भारत के टूर्नामेंट के बाहर होने की बड़ी वजह Middle Order रहा। लेकिन अब यदि भारत को आगामी टी20 विश्व कप 2022 में खिताबी जीत दर्ज करनी है, तो कम से कम इस समस्या से बाहर निकलना होगा। वरना एक बार फिर बस टूर्नामेंट के बाद हम हाथ मलते रह जाएंगे।

रोहित ने भी कहा करना होगा हल

Rohit Sharma, Middle Order

ये बात किसी से छिपी नहीं है कि टॉप ऑर्डर के स्ट्रॉन्ग होने के चलते भारत के Middle Order को अधिक मौके नहीं मिल पाते। ये एक बड़ा कारण है कि वह मुश्किल परिस्थितियों में मैच जिताऊ प्रदर्शन नहीं कर पाता। लेकिन अब राहुल द्रविड़ व रोहित शर्मा को मिलकर इस मुश्किल का हल तलाशना होगा और मध्य क्रम को तैयार करना होगा। रोहित शर्मा ने रविवार को पोस्ट मैच सेरेमनी में स्वीकार किया कि मध्य क्रम में सुधार करने की जरुरत है।

अब देखना दिलचस्प होगा कि साउथ अफ्रीका दौरे पर खेली जाने वाली टी20 सीरीज में राहुल-रोहित की ये जोड़ी किस तरह से सवालों के जवाब तलाशती है और अपनी टीम को तैयार करती है।