Michael Clarke Believes Justin Langer Could Step Down As Coach
Michael Clarke Believes Justin Langer Could Step Down As Coach

टी20 वर्ल्ड कप का 2021 का खिताब जीतने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम के कोच जस्टिन लैंगर (Justin Langer) को लेकर माइकल क्लार्क (Michael Clarke) ने बड़ा बयान दिया है. पहली बार ट्रॉफी जीतने के बाद पूरी टीम के खिलाड़ी जोश से भरे हैं. ऐसे में इस समय सभी की नजरें इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली एशेज सीरीज (Ashes series 2021) पर हैं, लेकिन उससे पहले ऑस्ट्रेलिया के पूर्व वर्ल्ड कप विजेता कप्तान माइकल क्लार्क (Michael Clarke) ने बड़ी अपडेट दी है. उन्होंने क्या कुछ कहा है इसके बारे में हम आपको अपनी इस रिपोर्ट के जरिए बता देते हैं.

मौजूदा कोच को लेकर पूर्व कप्तान ने दी बड़ी अपडेट

Michael Clarke -Justin Langer

दरअसल कंगारू टीम के पूर्व कप्तान का कहना है कि टी20 वर्ल्ड कप का खिताब हासिल करने के बाद यदि ऑस्ट्रेलिया एशेज सीरीज में जीत जाती है तो टीम के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर अपना पद छोड़ देंगे. साल 2018 में गेंद से छेड़छाड़ विवाद के बाद उन्हें टीम के मुख्य कोच की कमान सौंपी गई थी. उनके रहते हुए टीम ने रविवार को पहली बार टी20 वर्ल्ड कप के खिताब पर कब्जा किया.

माइकल क्लार्क (Michael Clarke) ने हाल ही में सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड से बात करते हुए कहा,

‘वह चाहते थे कि ऑस्ट्रेलिया दुनिया की बेस्ट टीम बने. वह चाहते थे कि हम ऐसी क्रिकेट खेलें जिस पर उन्हें गर्व हो और हमने अभी-अभी वर्ल्ड कप जीता है. यदि हम एशेज भी जीत जाते हैं तो फिर वह उन सब चीजों को हासिल कर लेंगे जिसके लिए उन्होंने यह पद संभाला था और जितना मैं लैंग (लैंगर) को जानता हूं वह गलत कारणों के लिए कोच नहीं बने रहेंगे.’

वॉर्नर की तारीफ में पूर्व कप्तान ने पढ़े कसीदे

Michael Clarke on david warner

माइकल क्लार्क (Michael Clarke) ने अपनी कप्तानी में साल 2015 में ऑस्ट्रेलिया को चैंपियन बनाया था. उन्होंने इस दौरान टी20 वर्ल्ड कप फाइनल में खेलने वाले सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर की भी तारीफ की. उन्होंने फाइनल मैच में 53 रनों की शानदार अर्धशतकीय पारी खेली थी. टूर्नामेंट में वॉर्नर के बल्ले से कुल 289 रन निकले थे. जो टीम की जीत के लिए बेहद महत्वपूर्ण थे.

वॉर्नर के बारे में बात करते हुए क्लार्क ने कहा,

‘वह पूरे टूर्नामेंट में शानदार खेल खेले. उनमें अभी भी हिम्मत है कि वह अपना स्वाभाविक खेल खेलें. मुझे कोई शक नहीं है कि वह टेस्ट सीरीज में पूरे आत्मविश्वास के साथ खेलेंगे. यह काफी अहम है. आत्मविश्वास हासिल करने का सबसे अच्छा तरीका रन बनाना है.’