इंडियन प्रीमियर लीग में हर सीजन कोई सितारा अपना छाप जरूर छोड़ जाता है. इस सीजन के शरुआत में ही एक युवा खिलाड़ी कौतुहल का विषय बना हुआ है. हर तरफ इस खिलाड़ी की चर्चा व सराहना हो रही है. पूरे सीजन अगर यह खिलाड़ी इसी लय को बरक़रार रख ले जाता है तो निश्चित रूप से इसे ब्लू जर्सी पहनने से कोई नहीं रोक सकता. दरअसल, मुंबई इंडियंस की तरफ से खेल रहे युवा लेग स्पिनर मयंक मार्कंडेय की बात कर रहें है जिसने महज दो मैचों में सात विकेट लेकर सनसनी मचा रखी है.
274759 1
बता दें कि लेगब्रेक बॉलर मयंक मार्कंडेय ने आईपीएल में अभी सिर्फ दो मुकाबले खेले हैं और दोनों ही मुकाबलों में उन्होंने शानदार गेंदबाजी कर 7 शिकार किए हैं. मयंक मार्कंडेय ने आईपीएल के आगाज मैच में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ 3 विकेट लिए तो वहीं सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ खेले दूसरे मुकाबले में 4 विकेट झटके.

इस प्रदर्शन की वजह से ही मयंक मौजूदा समय में पर्पल कैप होल्डर बने हुए हैं. दिलचस्प बात यह है कि इस खिलाड़ी ने आईपीएल खेलने से पहले महज चार टी-20 मैच खेले थे. वहीं जब आईपीएल की नीलामी तो रही थी तो इस गेंदबाज ने कभी सोचा तक नहीं था कि उसे इस सीजन खेलने को मौका मिल सकता है. लेकिन अब जब इस खिलाड़ी को मौका मिला है तब यह जमकर भुना रहा है.
mayank markande Bowling
बता दें, मुंबई इन्डियंस ने मयंक को मात्र 20 लाख रूपये देकर खरीदा है जिस लिहाज से यह खिलाड़ी अपने दाम के अनरूप बेहद शानदार प्रदर्शन कर रहा है. चेन्नई के खिलाफ पहले मैच में अपनी गुगली से महेंद्र सिंह धोनी जैसे अनुभवी बल्लेबाज को झांसे में लेने के बाद से ही मयंक चर्चा का विषय बन गया.

11 नवंबर 1997 को पंजाब में जन्मे मयंक मार्कंडेय ने पंजाब के लिए विजय हजारे ट्रॉफी खेली. इस टूर्नामेंट में मयंक मार्कंडेय ने सर्वाधिक विकेट लेकर सेलेक्टर्स के दिलों में अपनी जगह बनाई. इसके अलावा मयंक ने लिस्ट-ए के 6 मुकाबलों में 10 शिकार किए हैं.

बताते चलें कि जब इस लीग की शुरुआत हुई थी तो यह खिलाड़ी महज दस साल का था. अब इस सीजन यह पर्पल कैप होल्डर बना हुआ है.

Anurag Singh

लिखने, पढ़ने, सिखने का कीड़ा. Journalist, Writer, Blogger,

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *